कर्नाटक : बोम्मई की केंद्र से अपील, यूक्रेन में मारे गए कर्नाटक के छात्र का शव बरामद किया जाए

March 2nd, 2022

हाईलाइट

  • यूक्रेन युद्ध में पहला भारतीय हताहत

 डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने मंगलवार को कहा कि यूक्रेन में पढ़ रहा राज्य का मेडिकल छात्र नवीन शेखरप्पा ज्ञानगौदर, जो मंगलवार को खार्किव में रूसी गोलाबारी में मारा गया था, उसका शव तुरंत नहीं निकाला जा सकता, फिर भी विदेश मंत्रालय को अगले दो से तीन दिनों में उसका पार्थिव शरीर वापस लाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा, इस घटना से मैं दुखी हूं।

पत्रकारों से बात करते हुए बोम्मई ने कहा कि हावेरी के नवीन यूक्रेन में मेडिकल के चौथे वर्ष में पढ़ रहा था। वह पिछले हफ्ते से एक बंकर में रह रहा था। मंगलवार को वह दूसरों से मिलने के लिए बाहर आया, लेकिन एक हवाई हमले में मारा गया। यूक्रेन में चल रहे युद्ध में वह पहला भारतीय हताहत हुआ है। उसके साथ रहने वाले दो अन्य लड़के भी हावेरी जिले के छल्लागेरी गांव के रहने वाले हैं, जिनमें से एक घायल हो गया। बोम्मई ने कहा, एक अन्य छात्र बाल-बाल बच गया है। मैंने इस मामले में विदेश मंत्रालय से भी बात की है।

नवीन के पिता मुझे जानते हैं और मैंने उनसे बात की है। मैं उनके परिवार के सदस्यों को भी जानता हूं। मैं शव बरामद होने की संभावनाओं पर पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए विदेश मंत्रालय के संपर्क में हूं। वह एक युद्ध क्षेत्र है, और हमें अभी तक मृतक के शरीर की स्थिति के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

उन्होंने कहा, मैंने पीएमओ के अधिकारियों से भी बात की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवीन के परिवार के सदस्यों से बात करने की इच्छा व्यक्त की है। मैंने सभी विवरण उनके कार्यालय को भेज दिए हैं। उन्होंने उनसे बात की है।

 

(आईएएनएस)