comScore

बिहार में टूटे तटबंधों से जानमाल की क्षति नहीं, हेलीकॉप्टर की मदद लेंगे : मंत्री

July 24th, 2020 23:30 IST
 बिहार में टूटे तटबंधों से जानमाल की क्षति नहीं, हेलीकॉप्टर की मदद लेंगे : मंत्री

हाईलाइट

  • बिहार में टूटे तटबंधों से जानमाल की क्षति नहीं, हेलीकॉप्टर की मदद लेंगे : मंत्री

पटना, 24 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों की मदद के लिए शनिवार से हेलीकॉप्टर की मदद ली जाएगी। बिहार के जलसंसाधन मंत्री संजय झा ने शुक्रवार को बताया कि गोपालगंज में टूटे तटबंधों की एक-दो दिन में मरम्मत कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि टूटे तटबंधों से जानमाल को क्षति नहीं पहुंची है।

उन्होंने कहा कि राहत कार्य को लेकर वायुसेना से हेलीकॉप्टर की मांग की गई है। शनिवार सुबह तक हेलीकॉप्टर आ जाएगा। हेलीकॉप्टर के माध्यम से ही फूड पॉकेट बांटने की तैयारी की गई है।

जल संसाधन मंत्री झा ने बाढ़ से उत्पन्न हालात एवं तटबंधों के सुरक्षात्मक कार्यो के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि पिछले दिनों नेपाल के जलग्रहण क्षेत्र और बिहार में काफी बारिश हुई, जिसके कारण वाल्मीकिनगर बराज से लगभग 4़36 लाख क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज हुआ है।

इसी दौरान बिहार के उस इलाके में 200 मिलीमीटर से अधिक औसत बारिश हुई है, जिसके कारण सारण बांध से करीब 5़35 लाख क्यूसेक जलस्राव हो रहा था। इसके कारण गोपालगंज के डुमरिया घाट के पास जलस्तर 64़36 मीटर दर्ज किया गया, जो 2017 के उच्चतम जलस्तर से 26 सेंटीमीटर अधिक है।

जल संसाधन मंत्री ने बताया कि 19 से 21 जुलाई के बीच हुई बारिश के कारण 5़36 लाख क्यूसेक पानी प्रवाहित हो रहा था। इसको लेकर कई जगहों पर सीपेज और पाइपिंग की समस्या आई है, जिसकी मरम्मत कर ली गई है।

इससे पहले झा ने गंडक नदी पर बने बांध का हवाई सर्वेक्षण किया। उनके साथ आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत एवं जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस भी साथ थे।

इस दौरान मंत्री ने गोपालगंज के पकहां, देवापुर और पूर्वी चंपारण के संग्रामपुर के पास टूटे तटबंध का हवाई निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि हवाई सर्वेक्षण के दौरान जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है।

उन्होंने कहा कि एक-दो दिनों में पानी कम होने पर बांध की मरम्मत कर ली जाएगी। मंत्री ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में इस इलाके में भारी बारिश होने की संभावना नहीं है। 24 से लेकर 26 जुलाई तक नेपाल के जलग्रहण क्षेत्र और उत्तर बिहार के गंडक नदी के सीमावर्ती इलाकों में हल्की से मध्यम वर्षापात का अनुमान है।

उन्होंने स्थिति को पूरी तरह नियंत्रण में बताते हुए कहा, राहत कार्य को लेकर वायुसेना से हेलीकॉप्टर की मांग की गई है। शनिवार सुबह तक हेलीकॉप्टर आ जाएगा। इसके माध्यम से ही फूड पैकेट बांटने की तैयारी है।

जल संसाधन मंत्री ने बताया कि तीनों जगहों पर बांध 30 से 40 मीटर तक टूटा है।

कमेंट करें
jUBHq