दैनिक भास्कर हिंदी: बुलंदशहर हिंसा के दो दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है ये मुख्य आरोपी

December 5th, 2018

हाईलाइट

  • बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी फरार
  • घटना के दो दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है योगेश राज
  • योगेश राज पर भीड़ का भड़काने का आरोप

डिजिटल डेस्क, बुलंदशहर। बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज घटना के दो दिन बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। हिंसा के मामले में पुलिस ने अब तक चार लोगों की गिरफ्तारी कर ली है। लेकिन मुख्य आरोपी तक पहुंचने में पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली है। आरोपी योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक बताया जा रहा है, लेकिन ADG आदित्य कुमार ने इस बात पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है कि योगेश राज का कनेक्शन किसी संगठन से है या नहीं। गोमांस को लेकर भड़की हिंसा को लेकर योगेश राज ने ही सबसे पहले थाने में FIR दर्ज करवाई थी। योगेश राज की फरारी के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें योगेश एक कार्यक्रम में डांस के दौरान पिस्तौल लहराता दिखाई दे रहा है। ये वीडियो फरवरी का बताया जा रहा है और आरोप है कि योगेश राज इलाके में दहशत फैलाने का काम करता था। 

बता दें कि योगेश राज की गिरफ्तारी और मामले की गंभीरता को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को लेकर बड़ी बैठक बुलाई है। मामले के प्रति सीएम की गंभीरता को देखकर जांच अधिकारी एडीजी इंटेलिजेंस एसवी शिरोडकर बुलंदशहर पहुंच चुके और जांच शुरू कर दी है। वह आज अपनी रिपोर्ट सौपेंगे। इससे पहले योगी सरकार ने  इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार को 50 लाख और मृतक युवक सुमित के परिवार को 10 लाख रूपये की मदद करने के लिए कहा है। बुलंदशहर हिंसा को लेकर केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता उमा भारती ने भीड़ द्वारा की गई इंस्पेक्टर की हत्या और एक युवक की मौत पर कहा है कि अगर योगी सरकार सजग होती तो यह घटना नहीं होती। उमा भारती ने कहा कि ये ऐसा संकेत है जिसपर मुख्यमंत्री योगी को विचार करना ही होगा. इतनी बड़ी तादाद में लोग जुटे थे। रहस्यलोक बना लिया था। योगी जी को ध्यान रखना चाहिए। बहुत दुखद है और चिंताजनक है।अगर इस पर उनकी नज़र होती तो ये घटना नहीं होती।