दैनिक भास्कर हिंदी: बुराड़ी मामला : पिता के अलावा इन 4 आत्माओं से भी बात करता था ललित !

July 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में हुई एक ही परिवार के 11 लोगों की रहस्यमयी मौत के मामले में रोज नए-नए चौंकाने वाले खुलासे सामने आ रहे हैं। जांच में पुलिस टीम ने घर से जो रजिस्टर बरामद किया था, उनमें एक नया खुलासा हुआ है। रजिस्टर में लिखी बातों के अनुसार मृतक ललित भाटिया अपने पिता की आत्मा के अलावा अन्य 4 आत्माओं से भी बातें किया करता था और इन सभी आत्माओं को मुक्ति दिलाना चाहता था।

घर से बरामद हुए रजिस्टर पर स्टडी कर रही क्राइम ब्रांच की टीम को 9 जुलाई 2015 को लिखा एक ऐसा पेज मिला है, जिससे पता चलता है कि ललित अपने पिता की आत्मा के अलावा 4 अन्य आत्माओं के सम्पर्क में था। रजिस्टर में इन चार अन्य आत्माओं के नामों का जिक्र भी किया गया है। पुलिस उनके बारे में पता लगा रही है।

ये भी पढ़ें : रजिस्टर के इन पन्नों पर लिखा है 11 मौतों का राज...पिता से होती थी सपने में बात

पेज में लिखी बातों से पता चलता है कि ललित के पिता उसको बताते हैं, 'जैसे मैं मुक्ति के लिए भटक रहा हूं, ऐसे ही सज्जन सिंह, हीरा, दयानंद और गंगा देवी मेरे सहयोगी बने हुए हैं। ये भी यही चाहते हैं कि तुम सब सही कर्म करके अपना जीवन सफल बनाओ। यदि हमारे नियमित काम पूरे हो जाएंगे तो हम अपने वास को लौट जाएंगे।'

ये भी पढ़ें : 11 लोगों की मौत और दीवार पर लगे 11 पाइप, अब खुला पूरा राज

9 जुलाई 2015 को रजिस्टर के इस पेज पर लिखा था कि, 'अपने सुधार में गति बढ़ा दो। तुम्हारा धन्यवाद करता हूं कि तुम भटक जाते हो पर फिर एक दूसरे की बात मानकर एक छत के नीचे मेल मिलाप कर लेते हो। यदि तुम अपने में सुधार करोगे तो उन्हें भी गति मिलेगी। इससे सबका फायदा होगा। तुम तो सोचते होंगे कि हरिद्वार जाकर सब कुछ कर आएं तो गति मिल जाएगी।'



 

ये भी पढ़ें : बाबा और रजिस्टर से खुलेगा 11 मौतों का राज...

उज्जैन के तांत्रिक ने परिवार को दिया था श्राप
पूरे मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच की टीम को पता चला है कि भाटिया परिवार करीब डेढ़ साल पहले तांत्रिक पूजा के लिए उज्जैन भी गया था। उस दौरान पूरे परिवार ने उज्जैन के भृतहरि गुफा और गढ़कालिका क्षेत्र में तांत्रिक क्रियाएं की थीं। तांत्रिक क्रियाएं कराने वाले तांत्रिक ने परिवार से लाखों रुपये की डिमांड की थी। जब इतने रुपए नहीं दे पाया ये भाटिया परिवार तो तांत्रिक ने उनके परिवार के पतन का श्राप दे दिया था। तांत्रिक से विवाद होने के बाद ललित और उनका परिवार दिल्ली लौट आया और घर में ही पूजा-पाठ शुरू कर दिया था।

 


गौरतलब है कि क्राइम ब्रांच को मामले से जुड़े कुछ सीसीटीवी फुटेज भी हाथ लगे हैं। फुटेज में 30 जून की रात 10.20 से 10.40 के दौरान भवनेश की पत्नी सविता और बेटी नीतू प्लास्टिक के स्टूल खरीदकर ले जाते दिखे। जबकि भवनेश और ललित अपनी दुकानें बंद कर रस्सी और तार लेकर ग्राउंड फ्लोर से पहली मंजिल पर गए थे। पुलिस की पूछताछ में फर्नीचर दुकान के मालिक ने भी इसकी पुष्टि की है। क्राइम ब्रांच का दावा है कि इन्हीं स्टूलों पर चढ़कर आत्महत्या की गई।