comScore

#PULWAMA ATTACK : सरकार ने छीनी कश्मीरी अलगावादियों की सुरक्षा

February 17th, 2019 17:54 IST

हाईलाइट

  • केंद्र सरकार ने उठाया सख्त कदम
  • पांच अलगाववादियों से वापस ली सुरक्षा
  • पुलवामा हमले के बाद सरकार का निर्णय

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिल पर हुए आतंकी हमले के बाद केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने कश्मीर के अलगाववादी नेताओं को मिली सुरक्षा छीनने का फैसला लिया है। इन अलगाववादी नेताओं में शब्बीर शाह, अब्दुल गनी भट्ट, मीरवाइज उमर फारूक, हाशिम कुरैशी और बिलाल लोन शामिल हैं।

सरकार के द्वारा जारी आदेश के मुताबिक इन अलगाववादियों को सुरक्षा के साथ ही वाहन भी उपलब्ध कराए गए थे, जिन्हें रविवार शाम से ही वापस ले लिया जाएगा। सुरक्षाबल अब किसी भी अलगाववादी को सुरक्षा मुहैया नहीं कराएंगे। इन पांचों की सुरक्षा वापस लेने के बाद पुलिस मुख्यालय आदेश की समीक्षा करेगी, जिसके बाद इनके लिए की गईं अन्य व्यवस्थाओं को भी तत्काल खत्म कर दिया जाएगा। 

बता दें कि गुरुवार को पुलवामा में आतंकियों ने CRPF की एक बस को अपना निशाना बनाया था। आतंकियों के इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।  इस हमले की जांच के लिए सरकार ने NIA की 12 सदस्यीय टीम का भी गठन किया है। ये टीम शुक्रवार सुबह लेथीपोरा पहुंची थी और घटनास्थल से तमाम सबूत इकट्ठा किए। मामले की जांच में जुटी केंद्रीय एजेंसियों की रिपोर्ट्स में ये भी खुलासा हुआ है कि जवानों के काफिले को निशाना बनाने के लिए RDX नहीं बल्कि यूरिया अमोनियम नाइट्रेट का उपयोग किया गया था। यूरिया अमोनियम नाइट्रेट का उपयोग कश्मीर में पत्थर की खदानों में किया जाता है।
 

कमेंट करें
TFwQI
कमेंट पढ़े
रूपाराम कुम्हार February 17th, 2019 12:10 IST

भारत सरकार का सहरानीय कदम और अब धारा 370 की बारी है। जय हो मोदी सरकार।