comScore

छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 5 जवान शहीद और 10 घायल, तीन को एयरलिफ्ट कर रायपुर लाया गया, 9 नक्सली ढेर

छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 5 जवान शहीद और 10 घायल, तीन को एयरलिफ्ट कर रायपुर लाया गया, 9 नक्सली ढेर

हाईलाइट

  • 10 दिन में दूसरा नक्सली हमला
  • जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाया 8 किलो का IED बरामद

डिजिटल डेस्क, रायपुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के तारीम जंगल में शनिवार (3 अप्रैल 2021) को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच जबर्दस्त मुठभेड़ हो गई। इस दौरान CRPF के 4 और DRG का एक जवान शहीद हो गए। वहीं, 9 नक्सलियों के भी मारे जाने की खबर है, इनमें एक महिला भी शामिल है। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ स्थल पर करीब 250 नक्सली मौजूद थे। राज्य के DGP दुर्गेश माधव अवस्थी ने यह जानकारी दी।

मुठभेड़ में गंभीर रूप से घायल तीन जवानों को घटना स्थल से एयरलिफ्ट कर रायपुर लाया गया है। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने घायल जवानों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने का आदेश दिया है। नौ एंबुलेंस को भी तर्रेम के जंगलों में भेजा गया है। सूत्रों ने बताया कि जंगल में घिरे जवानों के राहत व बचाव के लिए वायुसेना के एमआई-17 हेलिकॉप्टरों को लगाया गया। मुठभेड़ में बड़ी संख्या में जवानों के शहीद होने को लेकर रायपुर में डीजीपी अवस्थी, नक्सल विरोधी अभियान के विशेष डीजी अशोक जुनेजा व अन्य अधिकारियों ने उच्च स्तरीय बैठक में हालात की समीक्षा की।

जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ झीरम हमले के मास्टर माइंड हिड़मा के गांव में हुई। हमला करने वाले नक्सली उसी की टीम के सदस्य थे। लंबे समय से गांव में नक्सलियों का जमावड़ा लग रहा था। इसकी सूचना पर जवान पहुंचे थे। इसी दौरान नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। 

250 नक्सली मौजूद थे, 9 मारे गए, 15 घायल
आरंभिक खबरों के अनुसार मुठभेड़ में कम से कम नौ नक्सली मारे गए और 15 घायल हुए।  इनमें एक महिला नक्सली भी शामिल है। बस्तर के आईजी पी. सुंदरराज ने कहा कि अभी हताहत नक्सलियों की संख्या की पुष्टि की जाना है। हमारे अनुमान के अनुसार घटनास्थल पर करीब 250 नक्सली मौजूद थे। सूत्रों ने बताया कि नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए तर्रेम के जंगल में सीआरपीएफ और डीआरजी की साझा टीम गई थी। तभी तर्रेम के जंगल में भीषण मुठभेड़ छिड़ गई। छत्तीसगढ़ में साझा अभियान के लिए एसटीएफ, डीआरजी, सीआरपीएफ व कोबरा के 400 जवानों की टीम बनाई गई है। 

10 दिन में दूसरा नक्सली हमला
बता दें कि छत्तीसगढ़ में 10 दिन के अंदर यह दूसरा नक्सली हमला है। इससे पहले 23 मार्च को हुए हमले में भी 5 जवान शहीद हुए थे। यह हमला नक्सलियों ने नारायणपुर में IED ब्लास्ट के जरिए किया था। तर्रेम थाने से CRPF, DRG, जिला पुलिस बल और कोबरा बटालियन के जवान संयुक्त रूप से सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान दोपहर में सिलगेर के जंगल में घात लगाए नक्सलियों ने हमला कर दिया। इस पर जवानों की ओर से भी जवाबी कार्रवाई की जा रही है। जवानों को रेस्क्यू कराने के लिए चॉपर रवाना कर दिया गया है।

जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाया 8 किलो का IED बरामद
दूसरी ओर गंगालूर क्षेत्र के चेरपाल के पास मोदीपारा में CRPF 85 बटालियन के जवानों ने 8 किलो का IED विस्फोटक बरामद किया है। नक्सलियों ने इसे जवानों को निशाना बनाने के लिए प्लांट किया था। यह विस्फोटक जवानों ने शनिवार सुबह करीब 7.30 बजे बरामद किया है। इसके बाद इसे विस्फोट कर नष्ट कर दिया गया।

कमेंट करें
LCR0t