दैनिक भास्कर हिंदी: भारतीय सीमा में दिखे चीनी हेलीकॉप्टर, निर्मला सीतारमण बोलीं-'सेना तैयार है'

March 26th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने डोकलाम विवाद पर कहा कि हम लगातार नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि चीन से लगी सरहद पर सेना किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है। बता दें कि इससे पहले चीन में भारत के राजदूत ने कहा था अगर चीन सीमा पर यथास्थिति में बदलाव करने की कोशिश करता है तो नतीजे अच्छे नही होंगे। इसके बाद भी चीनी हेलीकॉर्टर्स के भारतीय सीमा के अंदर उड़ने की सूचनाएं हैं। 


एक बार फिर से चीन के हेलीकॉप्टर ने भारत के एयर स्पेस में घुसपैठ की। चीन के हेलीकॉप्टर लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) को पार कर भारत की सीमा के अंदर घुसे। पिछले एक महीने में ऐसा चौथी बार हुआ है जब चीन के हेलीकॉप्टर भारतीय सीमा में आए हैं। बता दें कि इस साल अब तक चीन ने 45 बार भारतीय सीमा में घुसपैठ की है। हालांकि चीन ने जम्मू कश्मीर के लद्दाख, उत्तराखंड के बराहोती, अरुणाचल और हिमाचल के अलग-अलग सेक्टर में ऐसी हरकत की है।

 

भारत हर परिस्थिति के लिए तैयार

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि चीन ने अगर भारतीय सरहद की ओर आंख उठाकर देखा तो उसके लिए नतीजे ठीक नहीं होंगे। बता दें कि वह देहरादून में एक कार्यक्रम में बोल रही थीं, जिसमें थलसेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद थे। उन्‍होंने कहा कि भारत हर परिस्थिति के लिए तैयार है। हम पूरी तरह से अलर्ट भी हैं और हम अपनी प्रादेशिक अखंडता को बरकरार रखेंगे। 

 

 

छिप छिप कर तैयारियां कर रहा चीन

डोकलाम में पिछले साल क़रीब सत्तर दिन तक भारत और चीन की सेनाएं आमने सामने खड़ी रहीं। सरकार के मुताबिक, अब हालात ठीक हैं, लेकिन सवाल फिर भी बने हुए हैं। चीन इस इलाके में सड़क, हैलीपैड का निर्माण कर रहा है और अपना बुनियादी ढांचा दुरुस्त कर रहा है। भारत, चीन और भूटान की सरहद पर तनाव बढ़ रहा है। इससे पहले शनिवार को चीन में भारत के राजूदत गौतम बंबावले ने कहा कि अगर चीन भारतीय सीमा पर यथास्थिति में कोई बदलाव करने की कोशिश करता है तो फिर डोकलाम जैसे हालात पैदा हो सकते है।

 

चीन का रक्षा बजट भारत से अधिक

राजूदत गौतम ने कहा कि "सरहदी इलाकों में विवाद से बचने के लिए बेहतर ये होगा कि चीन किसी भी निर्माण से पहले भारत को बताए कि वो क्या करने जा रहा है। बता दें कि चीन का रक्षा बजट भारत से लगभग चार गुना है, लेकिन सरकार के मुताबिक इसका हल वो सेना के आधुनिकीकरण से निकालने जा रही है। रक्षा मामलों की संसदीय कमेटी ने जानकारी दी थी कि सेना के 68 फीसदी हथियार पुराने पड़ चुके हैं। ऐसे में रक्षा तैयारियों से जुड़े रक्षामंत्री के दावे पर सवाल भी उठ रहे हैं।