दैनिक भास्कर हिंदी: कोचिंग के टाइमिंग पर हुई किरकिरी तो सीएम ने खारिज किया फैसला

November 10th, 2017

डिजिटल डेस्क, भोपाल। भोपाल में छात्रा के साथ हुए गैंगरेप के बाद कोचिंग और शैक्षणिक संस्थानों को रात 8 बजे बंद करने के फैसले को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलट दिया है। राजधानी भोपाल में बीते 31 अक्टूबर को हुए गैंगरेप की घटना के बाद राज्य के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री दीपक जोशी ने कहा था कि रात 8 बजे के बाद कोचिंग संस्थानों में क्लासेस नहीं होंगी। उनके इस फैसले को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को खारिज करते हुए कहा कि 'राज्य की पुलिस को एक ऐसा माहौल बनाना चाहिए जहां महिलाएं आधी रात को भी घर से बाहर निकलने में सुरक्षित महसूस करें।'

कोचिंग-स्कूल संचालकों में थी नाराजगी

गौरतलब है कि दीपक जोशी के इस फैसले के बाद सभी कोचिंग ऑपरेटर्स में काफी गुस्सा था। कोचिंग ऑपरेटर्स  के मुताबिक सरकार का ये फैसला हैरान कर देने वाला है। कोचिंग संचालक का कहना था कि सरकार को कानून बनाकर ठोस कदम उठाने की जरूरत है। सिर्फ ऊपरी कदम उठाने से कुछ नहीं होगा। सरकार को चाहिए कि सुरक्षा बढ़ाए न कि कोचिंग बंद करे।

क्या है पूरा मामला ?


31 अक्टूबर की शाम 19 वर्षीय पीड़िता अपनी कोचिंग के बाद घर जाने के लिए भोपाल के हबीबगंज स्टेशन की तरफ पैदल जा रही थी। तभी कुछ लोग उसे जबरदस्ती उसका मुंह दबाकर एक छोटी पुलिया के नीचे झाड़ियों में ले गए। वहां आरोपियों ने लड़की को बहुत पीटा और फिर उसके हाथ पैर बांधकर तीन घंटे तक उसके साथ हैवानियत का खेल खेलते रहे। पीड़ित लड़की ने पुलिस को बताया कि जब वह उनकी ज्यादती से बेहोश हो गई तो आरोपी चाय पीने और गुटखा खाने के लिए गए। इसके बाद वे अपने दो साथियों के साथ वापस आए। उन दो लोगों ने भी लड़की के साथ रेप किया। पीड़िता ने आगे बताया कि घटना के दौरान जब वह मदद के लिए चीखी तो आरोपियों ने उसका मुंह दबा दिया। बाद में आरोपी उसका फोन, पर्स और अंगूठियां लूटकर फरार हो गए और लड़की को झाड़ियों में फेंक दिया। जिसके बाद लड़की के माता-पिता को सूचना दी गई और केस दर्ज कर आरोपियों को पकड़ा गया।