दैनिक भास्कर हिंदी: 'कांग्रेस मुक्त भारत' सिर्फ राजनीतिक नारा, ये संघ की भाषा नहीं : मोहन भागवत

April 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, पुणे। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने रविवार को 'कांग्रेस मुक्त भारत' के नारे से किनारा करते हुए इसे सिर्फ एक राजनीतिक नारा बताया है। पुणे में एक कार्यक्रम के दौरान बोलते हुए मोहन भागवत ने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत सिर्फ एक राजनीतिक नारा है और संघ इस तरह की भाषा का इस्तेमाल नहीं करता। उन्होंने ये भी कहा कि राष्ट्रनिर्माण में विरोधियों की भी जरूरत है। बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दिया था।

हम छांटने की भाषा का इस्तेमाल नहीं करते

पुणे में एक बुक के लॉन्चिंग इवेंट में RSS सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत सिर्फ राजनीतिक नारा है। उन्होंने कहा कि 'ये राजनीतिक नारे हैं। ये RSS की भाषा नहीं है। मुक्त शब्द राजनीति में इस्तेमाल किया जाता है। हम किसी को छांटने की भाषा का इस्तेमाल नहीं करते।' भागवत ने कहा कि 'हमें राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में सभी लोगों को शामिल करना है। उन लोगों को भी जो हमारा विरोध करते हैं।'

कांग्रेस ने देश के टुकड़े किए, पटेल पीएम होते तो कश्मीर हमारा होता : मोदी

नकारात्मक लोग ही बांटने का सोचते हैं

इसी कार्यक्रम में आगे बोलते हुए मोहन भागवत ने कहा कि 'हमें आज बदलाव लाने के लिए सकारात्मक पहल की जरूरत है। नकारात्मक सोच वाले बस संघर्ष और विभाजन के बारे में ही सोचते हैं।' उन्होंने कहा 'ऐसा व्यक्ति जो सिर्फ विभाजन और संघर्ष के बारे में ही सोचता है, वो राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में बिल्कुल भी उपयोगी नहीं है।'

कांग्रेस मुक्त भारत पर पीएम ने क्या कहा था?

कांग्रेस मुक्त भारत का नरेंद्र मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनावों में दिया था। इसके बाद से पार्टी हर राज्य में कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देकर आगे बढ़ती रही। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी ने एक इंटरव्यू में जवाब देते हुए कहा था कि कांग्रेस मुक्त भारत के नारे का वो मतलब नहीं था, जो लोग समझ नहीं रहे हैं। उन्होंने सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि 'जब मैं कांग्रेस मुक्त भारत की बात करता हूं तो ये किसी पार्टी या सिर्फ कांग्रेस के लिए नहीं है। बल्कि ये कांग्रेस की संस्कृति के लिए है, जो पूरे देश में है। आजादी के बाद कांग्रेस ही सारी राजनीतिक पार्टियों को आकर्षित करती रही है और सभी उसकी संस्कृति को अपना रहे हैं।' हालांकि इस इंटरव्यू के बाद फरवरी में पीएम मोदी ने संसद में बोलते हुए कहा था कि वो महात्मा गांधी के कांग्रेस मुक्त भारत के सपने को साकार करेंगे।

देश के 29 में से 20 राज्य हुए भगवा, मोदी के आने के बाद इतनी बढ़ी BJP

कितने राज्यों में किसकी सरकार? 

कांग्रेस : कर्नाटक, पंजाब, मिजोरम और पुडुचेरी में। 

बीजेपी : मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड, असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, त्रिपुरा में बीजेपी का सरकार है। जबकि जम्मू-कश्मीर, नागालैंड, सिक्किम, बिहार, मेघालय और मणिपुर में बीजेपी की सहयोगी पार्टियों की सरकार है।

अन्य पार्टी : केरल, ओडिशा, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और दिल्ली में अन्य पार्टियों की सरकार है।