comScore

स्थानीय निकाय चुनावों में कांग्रेस का जलवा, गहलोत ने कहा- ये सरकार के प्रदर्शन पर जनादेश

स्थानीय निकाय चुनावों में कांग्रेस का जलवा, गहलोत ने कहा- ये सरकार के प्रदर्शन पर जनादेश

हाईलाइट

  • कांग्रेस ने राजस्थान में 49 शहरी नागरिक निकायों में से 23 में प्रभावशाली जीत दर्ज की
  • भाजपा ने 20 सीटों में छह शहरी नागरिक निकायों और अन्य में जीत हासिल की
  • 2,000 से अधिक पार्षदों के चुनाव के लिए पिछले सप्ताह वोट डाले गए थे

डिजिटल डेस्क, जयपुर। मंडावा विधानसभा सीट पर अपनी हालिया उपचुनाव की जीत के बाद, कांग्रेस ने मंगलवार को राजस्थान में 49 शहरी नागरिक निकायों में से 23 में प्रभावशाली जीत दर्ज की। जबकि भाजपा ने 20 सीटों में छह शहरी नागरिक निकायों और अन्य में जीत हासिल की। यहां 2,000 से अधिक पार्षदों के चुनाव के लिए पिछले सप्ताह वोट डाले गए थे।

राज्य निर्वाचन विभाग के फाइनल आंकड़ों के अनुसार, सभी 49 नगर निकायों में 2,105 वार्ड पार्षदों में से, कांग्रेस के 961 उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है, इसके बाद भाजपा के 737, बसपा के 16 और माकपा के 3 हैं। 386 निर्दलीय उम्मीदवार भी विजेता बने हैं। कांग्रेस ने जहां जैसलमेर, बाड़मेर, हनुमानगढ़, सिरोही और बांसवाड़ा में जीत दर्ज की है, वहीं भाजपा के पास श्री गंगा नगर, अलवर और पुष्कर में स्थानीय निकाय की अधिकांश सीटें हैं।

लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद अशोक गहलोत की अगुवाई वाली कांग्रेस ने वापसी की है। लोकसभा चुनाव में भाजपा की अगुवाई वाले NDA ने सभी 25 सीटें जीतकर राज्य में जीत का परचम लहराया था। नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 'स्थानीय निकायों के परिणाम उम्मीदों और आशाओं के अनुसार आए हैं। यह खुशी की बात है कि लोगों ने सरकार के प्रदर्शन को देखते हुए जनादेश दिया है।' गहलोत ने कहा, 'मैं लोगों से यह कहना चाहूंगा कि वे आराम से रहें ... हम लोगों के काम करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।'

बता दें कि राजस्थान के 33 जिलों में से 24 शहरी स्थानीय निकाय चुनाव शनिवार को हुए। इनमें तीन नगर निगम, 18 नगर परिषद और 28 नगर पालिकाएं शामिल थीं। चुनाव में कुल 71.53 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। स्थानीय निकायों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पद के लिए चुनाव अगले मंगलवार और बुधवार को होंगे।

कमेंट करें
Yq03Z