दैनिक भास्कर हिंदी: 16 मंदिरों में मत्था टेक चुके राहुल अब भजन-कीर्तन में रमे, देखें Video

October 12th, 2017

 

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने गुजरात दौरे के आखिरी दिन दाहोद जिले के सलैया गांव पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद राहुल ने संत कबीर मंदिर में पूजा की और श्रद्धालुओं के साथ बैठकर भजन-कीर्तन किया। इस मंदिर में बैठकर राहुल ने हाथ में झांझे और मंजीरे के साथ भजन गाया। इस दौरान राहुल के साथ गुजरात कांग्रेस के प्रभारी अशोक गहलोत भी साथ थे। इससे पहले दौरे के दूसरे दिन राहुल छोटा उदेपुर के आदिवासियों के साथ 'तिमली डांस' करते नजर आए थे। बता दें कि राहुल गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर 'नवसर्जन यात्रा' पर थे। 

मोदी और शाह ने विकास को 'पागल' कर दिया

दौरे के तीसरे दिन भी राहुल पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि इन दोनों ने मिलकर विकास को 'पागल' कर दिया। राहुल ने तीसरे दिन सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ हमला और तेज किया। राहुल ने कहा कि, मोदी और शाह ने गुजरात में विकास को पागल कर दिया है। जिसे कांग्रेस पार्टी जीत के बाद पागलखाने से बाहर लाएगी। राहुल ने आगे ये भी कहा कि, गुजरात में बीजेपी ऊपर से शांत दिख रही है, लेकिन असल में उसके पैर के नीचे से जमीन खिसक गई है क्योंकि मोदी जी की इमेज पर भरोसा जताने वाली जनता अब उनकी सच्चाई समझ गई है। 

जनता के मन की बात सुनेगी कांग्रेस सरकार

इससे पहले राहुल ने छोटा उदेपुर में आदिवासी स्टूडेंट से बातचीत की। इस दौरान भी राहुल ने जमकर निशाना साधा। राहुल ने कहा कि, आज सभी कॉलेज इंडस्ट्रियलिस्ट के हाथ में है। यदि आपको एजुकेशन चाहिए तो डोनेशन देना होगा। यही गुजरात की हकिकत है। उन्होंने कहा कि, वो यहां स्टूडेंट के मन की बात सुनने आए हैं, भाषण देने नहीं आए। राहुल ने आगे कहा कि, गुजरात में चुनाव नजदीक ही हैं, कुछ ही महीनों में नई सरकार आएगी। अगर उनकी सरकार आई तो वो पीएम की तरह 'मन की बात' नहीं करेगी, बल्कि 'जनता के मन की बात' सुनेगी और उस हिसाब से ही काम करेगी।

नोटबंदी ने छोटे कारोबारियों को कर दिया तबाह

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने यहां पिछले साल की गई नोटबंदी को लेकर भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने कहा कि मोदी जी ने पिछले साल सपना दिखाया था और 500-1000 के नोट बंद कर देशभर को लाइन में खड़ा कर दिया था। उन्होंने कहा कि, नोटबंदी से कैश में कारोबार करने वाले छोटे कारोबारी तबाह हो गए। मोदी जी ने जनता को चोर बना दिया और चोरों ने काले धन को सफेद कर लिया। इसके बाद मोदी जी ने आनन-फानन में आधी रात को GST लागू कर रही-सही कसर भी पूरी कर दी। इससे GDP को नुकसान हुआ और ग्रोथ रेट 4.2% तक गिर गई। 

ढाबे में बैठकर किया शाम का नाश्ता

इसके बाद शाम को राहुल गांधी ने बोडेली के एक ढाबे में बैठकर शाम का नाश्ता किया। राहुल ने इस ढाबे में रुककर चाय की चुस्कियों के साथ कांग्रेस नेताओं के साथ चर्चा की। इस दौरान कांग्रेस के कई कार्यकर्ता भी मौजूद थे और सबके साथ मिलकर राहुल ने शाम का नाश्ता किया। 

मंगलवार को 'तिमली डांस' का लिया था मजा

मंलवार को अपने दौरे के दूसरे दिन राहुल गांधी उदेपुर पहुंचे तो स्थानीय आदिवासियों ने उनके स्वागत के लिए एक कार्यक्रम रखा था। कार्यक्रम में पहले तो आदिवासी अपना पारंपरिक डांस 'तिमली' प्रस्तुत कर रहे थे, लेकिन बाद में राहुल गांधी से रुका नहीं गया और वो भी इन आदिवासियों के साथ 'तिमली डांस' का मजा लेने के लिए उनके बीच चले गए। राहुल ने इनके साथ मिलकर कई देर तक इस डांस का लुत्फ लिया और इस दौरान राहुल अपने हाथ में एक वाद्य यंत्र लेकर भी बजाने लगे। आदिवासियों के 'तिमली डांस' का मजा राहुल के साथ-साथ गुजरात कांग्रेस के प्रभारी अशोक गहलोत और कई नेताओं ने भी लिया।

गुजरात में इस साल होने हैं चुनाव

गुजरात में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी के मद्देनजर कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही गुजरात पर फोकस कर रहे हैं। एक तरफ जहां बीजेपी अपनी साथ बचाने के लिए जी-जान से लगी हुई है, वहीं कांग्रेस गुजरात में बीजेपी विरोधी लहर का फायदा उठाने की जुगत में है। गुजरात में पिछले 22 साल से बीजेपी सत्ता में है और 1995 के बाद से कांग्रेस कभी यहां पर सत्ता में नहीं आई है। एक के बाद एक चुनाव हारने के बाद गुजरात में राहुल गांधी और कांग्रेस को एक उम्मीद की किरण दिखी है, जिसका फायदा पार्टी उठाना चाहती है। हाल ही में पीएम मोदी भी गुजरात दौरे पर आए थे और राहुल गांधी भी लगातार गुजरात का दौरा कर रहे हैं, यहां पब्लिक मीटिंग को एड्रेस कर रहे हैं। इसके साथ ही इस बार कांग्रेस ने बीजेपी को घेरने के लिए उसी की रणनीति अपनाई है। राहुल गांधी भी अब गुजरात में 'हिंदुत्व' की राजनीति कर रहे हैं। गुजरात दौरे के दौरान राहुल गांधी कई दफा मंदिर जा चुके हैं। इतना ही नहीं एक रैली में तो राहुल टीका लगाए भी नजर आए थे। इसके साथ ही पीएम मोदी भी लगातार मंदिरों का दौरा कर रहे हैं। शायद अब ये बात कांग्रेस भी समझ चुकी है कि बीजेपी को मात देना है, तो उसी हथियार का इस्तेमाल करना होगा, जिसका इस्तेमाल बीजेपी कर रही है।

इस साल 16 मंदिर के दर्शन कर चुके हैं राहुल

राहुल गांधी अब इस बात को अच्छी तरह समझ गए हैं कि बीजेपी को मात देनी है तो हिंदुत्व को हथियार बनाना होगा। यही कारण है कि राहुल एक के बाद एक मंदिरों में दर्शन के लिए जा रहे हैं। गुजरात दौरे के तीसरे दिन भी राहुल ने संत कबीर मंदिर के दर्शन किए। ये राहुल का 16वां मंदिर था, जिसमें उन्होंने दर्शन किए और भजन-कीर्तन किया। इससे पहले राहुल 15 मंदिरों के दर्शन कर चुके हैं। राहुल की पहली मंदिर यात्रा उत्तरप्रदेश चुनाव से हुई थी। इस साल सबसे ज्यादा मंदिर जाने के मामले में राहुल ने पीएम मोदी को पीछे छोड़ दिया।

Image result for rahul gandhi at dwarkadhish mandir

राहुल ने गुजरात में अपने चुनावी कैंपेन की शुरुआत द्वारकाधीश मंदिर से की थी। इसके बाद इसी महीने पीएम मोदी जब गुजरात दौरे पर थे, तब उन्होंने भी द्वारकाधीश मंदिर के दर्शन किए थे। राहुल जब पहली बार तीन दिन के दौरे पर गुजरात आए थे, तो उन्होंने 5 मंदिरों के दर्शन किए थे, जबकि पीएम मोदी इस साल सिर्फ 12 मंदिरों में ही गए हैं। पिछले एक महीने में ही राहुल 7 बार मंदिर जा चुके हैं, जबकि पीएम मोदी 4 मंदिर और एक मस्जिद में गए हैं।