दैनिक भास्कर हिंदी: राफेल मुद्दे पर सरकार का घेराव, कांग्रेस के 50 नेता 100 शहरों में करेंगे प्रेस कांफ्रेंस

August 23rd, 2018

हाईलाइट

  • राफेल मसले पर मोदी सरकार का घेराव करेगी कांग्रेस।
  • कांग्रेस के 50 नेता 100 शहरों में करेंगे सरकार के खिलाफ प्रेस कांफ्रेंस।
  • राहुल गांधी ने राफेल मसले को लेकर गठित की 6 टीमें।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस राफेल मामले को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है। इसके लिए कांग्रेस ने एक रणनीति भी तैयारी की है। रणनीति के तहत कांग्रेस के 50 नेता देश के 100 प्रमुख शहरों में मोदी सरकार के खिलाफ प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस मसले को लोगों तक पहुंचाने के लिए 6 सदस्यीय टीम का गठन पहले ही कर चुके हैं। ये टीमें राफेल विमान डील में कथित अनियमितता को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ देशभर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयपाल रेड्डी को इस टीम का प्रमुख बनाया गया है। कांग्रेस का दावा है कि यूपीए सरकार ने जिस विमान की डील की थी, उसी विमान को मोदी सरकार तीन गुना कीमत में खरीद रही है। साथ ही इस नई डील में किसी भी तरह की टेक्नोलॉजी के ट्रांसफर की बात नहीं है। पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी का कहना है कि यूपीए सरकार की डील के अनुसार 126 में से 18 एयरक्राफ्ट ही फ्रांस में बनने थे, बाकी भारत में बनाए जाने थे।

 


जानकारी के मुताबिक आने वाले दिनों में कांग्रेस के 50 नेता पूरे देश के 100 शहरों में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। कांग्रेस का आरोप है कि राफेल विमान सौदे में अनियमितता बरती गई है। संसद के मानसून सत्र के बाद से कांग्रेस राफेल डील को लेकर मोदी सरकार को लगातार घेर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद संसद में राफेल मसले को उठा चुके हैं, जिस पर रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण को सफाई देनी पड़ी थी। हालांकि रक्षामंत्री की सफाई से कांग्रेस संतुष्ट नहीं हुई और उन पर संसद में झूठ बोलने का आरोप लगाया था। इसके अलावा राहुल अपनी चुनावी रैलियों में भी इस मुद्दे को बार-बार उठा रहे हैं। हाल ही में राजस्थान में रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि मोदी सरकार ने 45 हजार करोड़ रुपये के कर्जदार अनिल अंबानी की कंपनी को राफेल कॉन्ट्रैक्ट इसलिए दे दिया, क्योंकि वो उनके (मोदी) दोस्त थे।
 

खबरें और भी हैं...