comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

भारत में कोरोना: एक दिन में एक लाख से ज्यादा संक्रमित मिले, केंद्र ने महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में 50 टीमें भेजीं, 8 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग करेंगे PM मोदी

भारत में कोरोना: एक दिन में एक लाख से ज्यादा संक्रमित मिले, केंद्र ने महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में 50 टीमें भेजीं, 8 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग करेंगे PM मोदी

हाईलाइट

  • भारत दुनिया में तीसरा सबसे संक्रमित देश, लगातार बढ़ रहे मामले
  • एक्टिव केस का आंकड़ा साढ़े 7 लाख के पार
  • महाराष्ट्र में हालात बेकाबू

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक होती जा रही है। बीते दिन एक लाख से ज्यादा नए संक्रमित मिलने के बाद देश में एक्टिव केस यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या साढ़े 7 लाख के पार पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में एक्टिव केसों में रिकॉर्ड 50,438 की बढ़ोतरी हुई।

ऐसे में केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में 50 हाई लेवल हेल्थ टीम भेजी हैं। ये टीमें सोमवार को रवाना हुईं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ हाई लेवल मीटिंग के निर्देश दिए हैं। राज्यों में कोरोना की स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 अप्रैल की शाम साढ़े 6 बजे मुख्यमंत्रियों के साथ ऑनलाइन मीटिंग करेंगे। इस दौरान कोरोना के हालात की समीक्षा की जाएगी। 

भारत दुनिया में तीसरा सबसे संक्रमित देश, लगातार बढ़ रहे मामले
बता दें कि अमरिका और ब्राजील के बाद भारत सबसे ज्यादा कोरोना मामलों वाला तीसरा देश है। देश में फरवरी की शुरुआत से ही दैनिक मामलों में वृद्धि हो रही है। इससे पहले सितंबर में एक दिन में एक लाख से कुछ कम मामले देखे गए थे, लेकिन इसके बाद फरवरी 2021 तक यह आंकड़ा 9 हजार प्रतिदिन तक पहुंच गया था। हालांकि, इसके बाद एकाएक संक्रमण के मामलों में तेजी आनी शुरू हुई। स्थिति इतनी विषम हो गई है कि कई राज्यों ने अपने-अपने यहां सख्त प्रतिबंध लागू कर दिए हैं। महाराष्ट्र जैसे राज्य एक बार फिर लॉकडाउन लगाने पर विचार कर रहे हैं।

एक्टिव केस का आंकड़ा साढ़े 7 लाख के पार
देश में फिलहाल 7 लाख 77 हजार 304 कोरोना के मरीजों का इलाज चल रहा है। यह आंकड़ा एक महीने पहले यानी 4 मार्च के एक्टिव केस के आंकड़े से 4 गुना से भी ज्यादा है। 4 मार्च को देश में 1 लाख 73 हजार 374 एक्टिव केस थे। पिछले एक महीने में देश में 7548 लोगों की जान भी गई है।

महाराष्ट्र में हालात बेकाबू
यूं तो पूरे देश में यह महामारी भयावह हो चुकी है, लेकिन महाराष्ट्र में बिल्कुल बेकाबू है। यहां नए संक्रमितों का आंकड़ा हर दिन नए रिकॉर्ड को छू रहा है। रविवार को राज्य में 57,074 केस आए। इसकी तुलना भारत को छोड़कर दूसरे देशों में रविवार को मिले नए संक्रमितों से करें तो सिर्फ फ्रांस (60,922) ही आगे रहा।

दिल्ली में 3,548 नए कोविड मामले आए, और 15 मौतें
दिल्ली में सोमवार को कोविड-19 के 3,548 नए मामले दर्ज किए गए, जिसके साथ कुल मामलों की संख्या 6,79,962 हो गई। दिल्ली सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 5.54 प्रतिशत रही। दिल्ली में लगातार चौथे दिन 3,500 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए। रविवार को, राष्ट्रीय राजधानी में 4,033 नए मामले आए थे। यह साल 2021 में एक दिन में संक्रमण के मामले आने का सबसे अधिक आंकड़ा रहा। शहर में 3 अप्रैल को 3,567 नए मामले और 2 अप्रैल को 3,594 मामले दर्ज किए गए थे। स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली में सक्रिय मामलों की संख्या सोमवार को बढ़कर 14,589 हो गई, जिनमें से 7,983 संक्रमित लोग अपने घर में ही अलगाव में हैं। सोमवार को और 15 मरीजों की मौत होने के साथ, दिल्ली में कोरोनो से हुईं मौतों का आंकड़ा बढ़कर 11,096 हो गया। राहत की बात यह कि पिछले 24 घंटों में कोरोना से संक्रमित 2,936 व्यक्ति ठीक हो गए। इसके साथ ठीक होने वालों की कुल संख्या 6,54,277 हो गई। पिछले 24 घंटों में कुल 64,003 नमूनों की जांच की गई। इनमें से 43,960 आरटी-पीसीआर परीक्षण और 20,043 तेजी से प्रतिजन परीक्षण थे।

दिल्ली में कोराना का फैलाव रोकने के लिए बनेंगे मिनी-कंटेनमेंट जोन    
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि जिन इलाकों में एक दिन में कोविड-19 के तीन से अधिक मामले दर्ज किए जाएंगे, उन इलाकों को माइक्रो-कंटेनमेंट जोन के रूप में नामित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए जल्द ही राष्ट्रीय राजधानी में माइक्रो-कंटेनमेंट जोन बनाएगी। जैन ने कहा कि कोविड का परीक्षण तेज गति से किया जा रहा है। मंत्री ने दिल्ली के लोगों से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने और किसी भी लापरवाही से बचने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि कोरोनोवायरस संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक सावधानी बरतने का अत्यधिक महत्व है। जैन ने दावा किया कि राज्य सरकार उचित उपाय कर रही है, जिसमें दैनिक परीक्षण क्षमता बढ़ाना शामिल है।
 

कमेंट करें
PmK7k