comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कोरोना वायरस: 155 विमानों से भारत आए 33 हजार लोगों की थर्मल जांच

कोरोना वायरस: 155 विमानों से भारत आए 33 हजार लोगों की थर्मल जांच

हाईलाइट

  • 4359 यात्रियों की विस्तार से जांच की गई
  • सोमवार को चीन से 18 विमान भारत आए
  • 80 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है अब तक दुनिया में

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन में फैले नोवल कोरोना वायरस के मद्देनजर सोमवार को कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की। उधर, सोमवार शाम तक देश के अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों पर विदेशों से आए 33 हजार से अधिक लोगों की थर्मल जांच की गई। यह जांच नोवल कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इन स्वास्थ्य जांचों में अभी तक कोई भी भारतीय नागरिक कोरोना वायरस से ग्रसित नहीं पाया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन कहा कि अभी तक अलग-अलग देशों से आ रहे 155 विमानों के 33 हजार 552 यात्रियों की जांच की गई है। सोमवार को चीन से 18 विमान भारत आए। इन विमानों सवार 4359 यात्रियों की विस्तार से जांच की गई। हालांकि अभी तक कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस से ग्रस्त नहीं पाया गया है।

80 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है अब तक 
कोरोना वायरस से चीन में हजारों लोग ग्रसित हैं और इनमें से 80 से अधिक व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए कैबिनेट सचिव ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय व जहाजरानी मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की।

चीन से आने वाले विमान यात्रियों की जांच
कैबिनेट सचिव ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कहा कि चीन से सीधे या परोक्ष रूप से जुड़े विमान यात्रियों की जांच करवाई जाए। इन विमानों में सवार कोई भी यात्री यदि बीमार नजर आए तो तुंरत तय प्रक्रिया के तहत कार्रवाई करें। विमान के अंदर आवश्यक घोषणा करवाई जाए। साथ ही इन विमानों को हेल्थ कार्ड जारी किया जाए।

राज्य सरकारों को मेडिकल टीम मुहैया कराने को कहा गया 
कैबिनेट सचिव ने कहा कि गृह मंत्रालय के अधिकारी व राज्य पुलिस नेपाल से लगी सभी सीमाओं पर आगंतुकों की स्क्रीनिंग सुनिश्चित करवाए। संबंधित राज्य सरकारों को मेडिकल टीम मुहैया कराने को कहा गया है। सीमाओं पर तैनात एसएसबी और बीएसएफ को इस बारे में सर्तक किया गया है। जहाजरानी मंत्रालय को चीन से आने वाले सभी समुद्री जहाजों व यात्रियों की स्क्रीनिंग कराने का आदेश दिया गया है। उधर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता समेत 7 अन्य एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस की रोकथाम के इंतजाम का जायजा लेने केंद्रीय टीम पहुंची। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमों ने यहां थर्मल चेकिंग का निरीक्षण किया। केंद्र सरकार का कहना है कि जरूरत पड़ने पर एयरपोर्टो पर और अधिक स्टाफ व संसाधन मुहैया कराए जाएंगे।

17 संदिग्धों की जांच के सेम्पल भेजे लेब
स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने कहा कि अभी तक 17 संदिग्धों की जांच के नमूने परीक्षण के लिए लेबोट्री में भेजे गए हैं। इनमें से 14 के नतीजे आ चुके हैं और कोई भी कोरोना वायरस से ग्रसित नहीं है।

कमेंट करें
DRi2c
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।