comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Corona in India: देश में पहली बार 24 घंटे में 26,506 नए केस, मरीजों की कुल संख्या 7.93 लाख के पार


हाईलाइट

  • देश में पहली बार 24 घंटे में 26,506 नए केस, 475 की मौत
  • संक्रमितों की कुल संख्या 7 लाख 93 हजार के पार पहुंची

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। यहां हर दिन 20 हजार से ज्यादा संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं। शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटों के दौरान सर्वाधिक 26 हजार 506 नए मामले सामने आए हैं और 475 की मौत हुई है। इसी के साथ देश में कोरोना के मरीजों की कुल संख्या 7 लाख 93 हजार 802 हो गई है। इनमें से 21 हजार 604 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 4 लाख 95 हजार 513 मरीज ठीक हुए हैं। 2 लाख 76 हजार 685 ऐक्टिव केस हैं। कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश बना हुआ है।

राज्यों में कोरोना के मामले और मौतों का आंकड़ा... 

S. No.Name of State / UTActive Cases*Cured/Discharged/Migrated*Deaths**Total Confirmed cases*
1Andaman and Nicobar Islands68830151
2Andhra Pradesh113831215427723814
3Arunachal Pradesh1801202302
4Assam528487262214032
5Bihar4013981611513944
6Chandigarh1134037523
7Chhattisgarh7572903153675
8Dadra and Nagar Haveli and Daman and Diu2221890411
9Delhi21567822263258107051
10Goa869127392151
11Gujarat946827718200839194
12Haryana45721451028719369
13Himachal Pradesh283846111140
14Jammu and Kashmir365256951549501
15Jharkhand10152208233246
16Karnataka177861283348631105
17Kerala27993708276534
18Ladakh13991511055
19Madhya Pradesh34751223263416341
20Maharashtra936731272599667230599
21Manipur65179901450
22Meghalaya45662113
23Mizoram641330197
24Nagaland3693040673
25Odisha374274075211201
26Puducherry553584141151
27Punjab201249451837140
28Rajasthan50021707049122563
29Sikkim62720134
30Tamil Nadu46655781611765126581
31Telangana124231819233130946
32Tripura437133811776
33Uttarakhand5872672463305
34Uttar Pradesh103732112786232362
35West Bengal82311682685425911
 Cases being reassigned to states4161  4161
 Total#27668549551321604793802
*(Including foreign Nationals)
**( more than 70% cases due to comorbidities )
#States wise distribution is subject to further verification and reconciliation
#Our figures are being reconciled with ICMR
कमेंट करें
36QhL
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।