comScore

कोरोना ने बढ़ाई टेंशन: खुद से ज्यादा अपने घरवालों के स्वास्थ्य को लेकर अधिक चिंतित लोग- रिपोर्ट

कोरोना ने बढ़ाई टेंशन: खुद से ज्यादा अपने घरवालों के स्वास्थ्य को लेकर अधिक चिंतित लोग- रिपोर्ट

हाईलाइट

  • प्रियजनों के स्वास्थ को लेकर लोग अधिक चिंतित
  • लोगों का सोशल मीडिया का उपयोग बढ़ गया है

डिजिटल डेस्क, पणजी। गोवा के एक प्रमुख बिजनेस स्कूल द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार अधिकांश लोगों को खुद से ज्यादा अपने प्रियजनों के स्वास्थ की चिंता है। वहीं लोग हल्की सर्दी, खांसी और छींक जैसे मामूली बीमारी लेकर भी पहले से ज्यादा जागरूक हो गए हैं। यह अध्ययन गोवा प्रबंधन संस्थान (Goa Institute of Management) की डॉक्टर दिव्या सिंघल (Dr. Divya Singhal) और प्रोफेसर पद्मनाभन विजयराघवन (Professor Padhmanabhan Vijayaraghavan) द्वारा किया गया। 

231 लोगों से पूछताछ कर बनाई रिपोर्ट
रिपोर्ट देश के विभिन्न हिस्सों से 231 लोगों से पूछताछ कर तैयार की गई है। जिसमें 145 पुरुष और 86 महिलाएं शामिल हैं। जिनकी उम्र 18 वर्ष और अधिक है। वहीं 47.62 प्रतिशत निजी सा सरकारी सेक्टर में नौकरी करते हैं, जबकि स्टूडेंट्स, रिटायर्ड और गृहणियां शामिल थे। 

रिपोर्ट: सेक्स से भी हो सकता है कोरोना! स्पर्म में मिला वायरस

लोग हुए सचेत
डॉक्टर दिव्या सिंघल ने बताया कि लगभग 82.25 प्रतिशत लोग अपने खुद की तुलना में अपने प्रियजनों के स्वास्थ्य के बारे में अधिक चिंतित थे। उन्होंने कहा कि लोग किसी भी शारीरिक परिवर्तन, हल्की सर्दी-खांसी को लेकर सचेत हो गए। ऐसे लक्षणों को पहली नजर में कोरोना वायरस समझ रहे हैं। 

कोरोना वायरस के बाद अब मर्डर हॉर्नेट का डर, गला देता है इंसानों का मांस

ऑनलाइन फिल्म देख रहे लोग
रिपोर्ट में कहा गया कि 50 प्रतिशत से अधिक लोगों का सोशल मीडिया का उपयोग बढ़ गया है। लोगों का समय ऑनलाइन फिल्म और शो देखने में बीत रहा है। वहीं लोग टेक्नोलॉजी का उपयोग कर अपने दोस्तों और घरवालों के पहले से ज्यादा करीब आ गए हैं। अध्ययन में सामने आया कि कई लोग को कोरोना बीमारा के मैसेज पढ़कर डिप्रेशन में जा रहे हैं। वहीं 41 प्रतिशत लोग किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि नहीं कर पा रहे हैं। जबकि 57 प्रतिशत लोग मेडिटेशन कर रहे हैं। 
 

कमेंट करें
FCcXx