दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus in MP: अब भोपाल मैमोरियल में होगी सिर्फ Covid-19 की जांच, 24 घंटें में 197 नए केस मिले

April 16th, 2020

हाईलाइट

  • मध्यप्रदेश में मरीजों की संख्या 938 पहुंची
  • बुधवार को राज्य में कोई मौत का मामला नहीं
  • भोपाल के बीएमएचआरसी में सिर्फ कोविड की जांच होगी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना संकमण के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना संकमण के 197 नए केस सामने आए हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना के कुल मामले 938 हो गए हैं और 53 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां 52 जिलों में से 24 में फैल चुका है। इन जिलों में प्रदेश की 59 फीसदी आबादी रहती है। यहां बीते दो हफ्तों में 14 गुना मामले बढ़े हैं। 31 मार्च तक राज्य में 66 केस थे।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार रात जारी बुलेटिन के अनुसार, इंदौर में मरीजों की संख्या बढ़कर 411 से 544 हो गई है। वहीं भोपाल में 167, जबलपुर में 12, ग्वालियर छह, उज्जैन में 30, मुरैना में 14, खरगोन में 39, बड़वानी में 22, छिंदवाड़ा चार, विदिशा 13, होशंगाबाद 16, खंडवा 16, देवास 15, रतलाम 12, शाजापुर व रायसेन चार-चार, श्योपुर व आगर मालवा में तीन-तीन, शिवपुरी, मंदसौर, रतलाम, सतना में दो-दो और बैतूल, अलिराजपुर, सागर, टीकमगढ़ व अन्य राज्य से आए एक-एक मरीजों के नमूने पॉजिटिव पाए गए हैं। इस तरह राज्य में बीते 24 घंटों में 197 नए मामले सामने आए हैं। मरीजों की संख्या 741 से बढ़कर 938 हो गई है।

बुधवार को कोई मौत का मामला नहीं
स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, मौत का आंकड़ा 53 है। आज एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। अब तक इंदौर में 37, उज्जैन में 6, भोपाल में 5, खरगोन में 3 और देवास व छिंदवाड़ा में 1-1 एक मौत हुई है। वहीं अब तक 64 मरीज अब तक स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा इंदौर से 39 हैं।

इंदौर और भोपाल में 75 फीसदी संक्रमण 
बता दें कि मध्यप्रदेश में 31 मार्च तक राज्य में 66 केस थे। इसके बाद अप्रैल माह में अब तक राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 14 गुना तक बढ़ चुकी है। हालांकि इनमें से 75 फीसदी मामले अकेले इंदौर और भोपाल जिले से हैं। 2011 की जनगणना के मुताबिक राज्य की जनसंख्या करीब 7.26 करोड़ है। इनमें से 24 जिलों में जहां मरीज मिले हैं, वहां की आबादी 4.29 करोड़ है। 

इंदौर में थाना प्रभारी कोरोना पॉजिटिव
इस बीच इंदौर के खजराना क्षेत्र में थाना प्रभारी संतोष यादव कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद यहां के सभी पुलिसकर्मियों को क्वारंटीन किया जा रहा है। इस बीच इंदौर के पुलिस महानिरीक्षक विवेक शर्मा ने यह सुझाव दिया था कि कोरोना संक्रमित क्षेत्र में कार्यरत थाना प्रभारी एवं पुलिस कर्मी को नियमित रूप से बदलते हुए अलग-अलग स्थानों पर तैनात किया जाए।

भोपाल के बीएमएचआरसी में सिर्फ कोविड की जांच होगी
मप्र की राजधानी में गैस पीड़ितों के उपचार वाले अस्पताल भोपाल मेमोरियल हस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर में अब सिर्फ कोविड-19 के नमूनों की टेस्टिंग होगी। पूर्व में राज्य सरकार ने इस अस्पताल को कोविड-19 के लिए राज्य स्तरीय उपचार संस्थान के रूप में चिन्हित किया था। राज्य शासन के स्वास्थ्य संचालनालय ने बुधवार को एक आदेश जारी कर कहा कि भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर को कोविड-19 की चिन्हांकित सूची में से हटा दिया है। इस अस्पताल में अब कोविड-19 की सैम्पल टेस्टिंग ही होगी। यह आदेश लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के आयुक्त ने जारी किया है।

गैस पीड़ितों ने जताई थी नाराजगी
ज्ञात हो कि पूर्व में राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर गैस पीड़ितों के अस्पताल बीएमएचआरसी को कोविड-19 के लिए राज्यस्तरीय उपचार संस्थान के तौर पर चिन्हित किया था। साथ ही इस संस्थान के संचालन की जिम्मेदारी जिलाधिकारी भोपाल को सौंप दी गई थी। इससे गैस पीड़ितों में रोष था।

खबरें और भी हैं...