दैनिक भास्कर हिंदी: Lock Down: भारतीय रेलवे का बड़ा निर्णय, अब 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन

March 25th, 2020

हाईलाइट

  • कोरोनावायरस से लड़ने एकजुट हुआ भारत
  • पूरा भारत 21 दिनों के लिए लॉकडाउन
  • 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन (Lockdown) लागू हो गया है। जिसके बाद भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने भी एक बड़ा निर्णय लिया है।  रेलवे ने सभी यात्री सेवाओं को 14 अप्रैल तक स्थगित कर दिया है। इस दौरान सिर्फ आवश्यक माल ढुलाई जारी रहेगी। 

रिफंड की खिड़कियां भी बंद
रेलवे स्टेशन पर रिजर्वेशन निरस्त कराने के लिए खोली गई खिड़कियां भी बंद कर दी गई। बुकिंग विंडो पर इसकी सूचना भी चस्पा कर दी गई है। वहीं रेलवे ने ट्रेनों के कैंसिल होने के बाद रिजर्वेशन निरस्त कराने वाले यात्रियों को बगैर कटौती रिफंड करने का फैसला लिया है।

नवरात्र का पहला दिन आज, PM मोदी बोले- कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने वालों के लिए प्रार्थना करूंगा

रेलवे की अपील, सुचारु रूप से डिलिवरी में करें मदद
देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन होने के बाद पुलिस रेलवे कर्मचारियों को उनके कार्यस्थल तक नहीं जाने दे रही है, जिससे रेलवे को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।रेलवे  प्रशासन से अपील की है कि जो कर्मचारी जरूरी सामानों के परिवहन में शामिल हैं, उन्हें आने की अनुमति दें। रेलवे ने एक बयान में कहा कि सभी मीडिया समूहों की ओर से कहा गया कि पूरी रेल सेवा बंद कर दी गई है, ऐसे में हमारे कर्मचारियों को फील्ड में दिक्कत हो रही है। 

क्योंकि पुलिस और प्रशासन उन्हें कार्यस्थल तक नहीं आने दे रही है। जबकि जरूरी सामानों का परिवहन मालगाड़ियों के द्वारा हो रहा है और उसके लिए ढांचागत तौर पर काम करने वाले स्टाफ की जरूरत है। रेलवे ने कहा, जरूरी वस्तुओं की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए रेलवे सातों दिन 24 घंटे काम कर रहा है। भले ही सभी यात्री ट्रेनें रद्द हैं लेकिन मालगाड़ियां चल रही हैं।

रेलवे ने यह भी कहा, अनाज, कोयला, दूध, सब्जियां आदि बहुत जरूरी हैं और इनकी पूरे देश में आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए हम काम कर रहे हैं। हम अगले कुछ महीनों के लिए अपनी जिम्मेदारियों को अच्छी तरह समझ रहे हैं।