comScore

Coronavirus in India: देश में बीते 24 घंटों में 4213 नए मामले सामने आए़, अब तक 67 हजार से ज्यादा संक्रमित

Coronavirus in India: देश में बीते 24 घंटों में 4213 नए मामले सामने आए़, अब तक 67 हजार से ज्यादा संक्रमित

हाईलाइट

  • 5 लाख लोग पहुंचे घर: गृहमंत्रालय
  • 9.8 करोड़ लोगों ने डाउनलोड किया आरोग्य सेतु ऐप

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 4213 नए मामले सामने आए हैं और 97 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही देश में अब तक कोरोना संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 67 हजार 152 हो गई है। इनमें से 20,917 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 2206 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, आज राजस्थान में 126, ओडिशा में 14, बिहार में 11, कर्नाटक में 10 और आंध्र प्रदेश में 38 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

सोमवार शाम स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस वार्ता में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना वायरस के 4213 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 1559 लोग ठीक भी हुए हैं, रिकवरी रेट अब 31.15 प्रतिशत हो चुका है। स्वास्थ्य मंत्रालय व गृह मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस में आज कोरोना वायरस को लेकर नई जानकारियां दीं। इस दौरान गृह मंत्रालय ने कहा कि आज ट्रेन से आवाजाही को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

5 लाख लोग पहुंचे घर: गृहमंत्रालय
गृहमंत्रालय की ओर से संयुक्त सचिव पुण्य सलीला श्रीवास्तव ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों के लिए चलाई गई विशेष ट्रेनों के माध्यम से 5 लाख से अधिक लोगों को उनके राज्यों में पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अब तक 468 विशेष ट्रेनें चलाई जा चुकी हैं। इनमें से रविवार 10 मई को 101 ट्रेनें चलाई गई थी। संयुक्त सचिव ने कहा कि गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों से अनुरोध किया है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी हालात में प्रवासी श्रमिक सड़क और रेलवे पटरी का सहारा न लें, अगर वे ऐसा करते पाए जाते हैं तो उनके लिए बस या ट्रेन द्वारा यात्रा की व्यवस्था की जाए।

9.8 करोड़ लोगों ने डाउनलोड किया आरोग्य सेतु ऐप
अब तक 9.8 करोड़ स्मार्टफोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड किया जा चुका है। यह कल से Jio फीचर स्मार्टफोन पर उपलब्ध होगा। हमने आरोग्य सेतु उपयोगकर्ताओं के डेटा की गोपनीयता पर बहुत काम किया है, ऐप उपयोगकर्ताओं के डेटा से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। ऐप में उपयोगकर्ता का डाटा 60 दिन तक रखा रखा जाएगा। पॉजिटिव मरीजों का डेटा ही सर्वर पर भेजा जाता है। 
 

कमेंट करें
3HYIM