comScore

फैसला: कोरोनावायरस से लड़ने की तैयारी, भारत ने पैरासिटामॉल सहित 26 दवाओं के निर्यात पर लगाई रोक  

फैसला: कोरोनावायरस से लड़ने की तैयारी, भारत ने पैरासिटामॉल सहित 26 दवाओं के निर्यात पर लगाई रोक  

हाईलाइट

  • आपात स्थिति से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने उठाया यह कदम
  • दवाओं की कमी न हो, इसलिए आवश्यक दवाओं के निर्यात पर रोक लगाई
  • डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड ने मंगलवार को इसका नोटिफिकेशन जारी किया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के 12 पॉजिटिव केस सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। ऐसे में केंद्र सरकार इस जानलेवा वायरस से बचने के लिए तैयारी कर रही है। इसके लिए केंद्र ने एक्सपोर्ट पॉलिसी में बदलाव करते हुए पैरासिटामॉल समेत दवाएं बनाने में इस्तेमाल होने वाले 26 फॉर्मूलेशन और एक्टिव फार्मास्यूटिकल्स इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर रोक लगा दी है। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार ने आपात स्थिति से निपटने के लिए यह कदम उठाया है। दवाओं की कमी न हो, इसलिए आवश्यक दवाओं के निर्यात पर रोक लगा दी है। डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (डीजीएफटी) ने मंगलवार को इसका नोटिफिकेशन जारी किया। यह तुरंत प्रभाव से लागू हो गया है। 

वहीं अमेरिकी मीडिया हाउस ब्लूमबर्ग की पिछले महीने की रिपोर्ट के अनुसार, चीन से सप्लाई रुकने के कारण भारत में पैरासिटामॉल दवाओं की कीमत 40% बढ़ीं हैं। 

इन 26 एपीआई, फॉर्मूलेशन के निर्यात पर रोक

  • पैरासिटामॉल
  • टिनिडेजॉल
  • मेट्रोनाइडेजॉल
  • एसायक्लोविर
  • विटामिन बी1
  • विटामिन बी6
  • विटामिन बी12
  • प्रोजेस्टेरॉन
  • क्लोरेमफेनिकॉल
  • इरिथ्रोमाइसिन सॉल्ट
  • निओमाइसिन
  • क्लिंडामाइसिन सॉल्ट
  • ऑर्निडेजॉल
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ क्लोरेमफेनिकॉल
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ इरिथ्रोमाइसिन सॉल्ट
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ क्लिंडामाइसिन सॉल्ट
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ प्रोजेस्टेरॉन
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ विटामिन बी1
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ विटामिन बी12
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ विटामिन बी6
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ निओमाइसिन
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ ऑर्निडेजॉल
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ मेट्रोनाइडेजॉल
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ टिनिडेजॉल
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ एसायक्लोविर
  • फॉर्मूलेशन मेड ऑफ पैरासिटामॉल

70% एपीआई के लिए चीन पर निर्भर भारत
ज्यादातर एपीआई के लिए भारत चीन पर निर्भर है। लेकिन, वहां कोरोना वायरस फैलने की वजह से फैक्ट्रियां बंद हैं। ऐसे में वहां प्रोडक्शन नहीं हो रहा और सप्लाई भी रुक गई है। भारत सालाना 25,200 करोड़ रुपए के एपीआई इंपोर्ट करता है। इनमें से 18,000 करोड़ रुपए के यानी 70% एपीआई चीन से आते हैं। भारत ने पिछले साल 1,620 करोड़ रुपए के एपीआई एक्सपोर्ट किए थे।

कमेंट करें
GkMyb