comScore

स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरने के बाद बोले राजनाथ- मुझे सेना पर गर्व

September 19th, 2019 17:48 IST

हाईलाइट

  • स्वदेशी लड़ाकू विमान में सवार होने वाले पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
  • हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड और एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी ने मिलकर तेजस को किया तैयार

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज (19 सितंबर) बेंगलुरु में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरी। पहली बार देश के रक्षा मंत्री ने स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरी है। बेंगलुरु के सुलूर एयर फोर्स स्टेशन पर रक्षा मंत्री तेजस के दो सीट वाले एयरक्राफ्ट में सवार हुए इसके बाद हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया। इसके बाद उन्होंने तेजस में उड़ान भरी और करीब आधे घंटे पर वह विमान में ही रहे।

उड़ान के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, आज हम ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं जहां हमें दूसरे देशों से भी तेजस जैसे एयरक्राफ्ट के ऑडर्र मिल रहे हैं। यह स्वदेशी विमान था इसलिए मेरा हमेशा से यह मन था कि इसकी उड़ान का अनुभव लूं। मैंने भी कुछ समय के लिए एयरक्राफ्ट कंट्रोल किया। मुझे काफी गर्व महसूस हुआ। हमें हमारी देश की सेना पर, इंजिनियर्स पर, एचएएल सभी पर काफी गर्व है।

रक्षा अधिकारियों ने बताया, यह भारतीय वायुसेना की 45वीं स्क्वॉड्रन ‘फ्लाइंग ड्रैगर्स’ का हिस्सा है। तेजस को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड और एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी ने डिजाइन और विकसित किया है।

तेजस को 3 साल पहले वायु सेना में शामिल किया गया था। अब तेजस का अपग्रेड वर्जन भी आने वाला है। तेजस हल्का लड़ाकू विमान है, जिसे हिंदुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड ने तैयार किया है।

83 तेजस विमानों के लिए एचएएल को करीब 45 हजार करोड़ रुपए मिलेंगे। तेजस में रक्षा मंत्री की यह उड़ान उस वक्त हुई, जब एचएएल को देश में बनाए जाने वाले 83 एलसीए मार्क 1ए विमान के निर्माण के लिए 45 हजार करोड़ रुपये की परियोजना मिलने वाली है। 

तेजस ने पिछले सप्ताह ही वायुसेना में शामिल होने के लिए एक बड़ा परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया था। डीआरडीओ और एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी के अधिकारियों ने गोवा की तटीय टेस्ट फैसिलिटी में तेजस की अरेस्टेड लैंडिंग कराई थी। यह मुकाम पाने वाला तेजस देश का पहला एयरक्राफ्ट बन गया है।

कमेंट करें
p91sM