• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Delhi CM Arvind Kejriwal warning to hospitals who Not Admitting COVID19 patients black marketing of beds in hospitals

दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली: कोरोना मरीजों के लिए बेड नहीं, केजरीवाल बोले- ब्लैक मार्केटिंग करने वाले अस्पतालों पर होगी कार्रवाई

June 6th, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली के अस्‍पतालों में कोरोना मरीजों को बेड न मिलने का मामला
  • केजरीवाल ने इन हरकतों के लिए निजी अस्पतालों को दी चेतावनी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना रोगियों को अस्पताल में भर्ती न करने वाले निजी अस्पतालों को कड़ी चेतावनी दी है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने अब निजी अस्पतालों में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की तैनाती करने का निर्णय लिया है। दिल्ली सरकार के यह अधिकारी निजी अस्पतालों में कोरोना रोगियों को बिस्तर मुहैया कराने में मदद करेंगे।

अस्पतालों के खिलाफ सरकार करेगी सख्त कार्रवाई
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, सरकारी जमीन पर बने सभी अस्पतालों को कोरोना के मरीजों का इलाज करना ही होगा। वो अन्य किसी भी दलों के आकाओं से कुछ नहीं करवा सकते। कोरोना रोगियों का उपचार करने से इनकार करने वाले अस्पतालों के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। केजरीवाल ने कहा, इस संकट काल में भी कुछ हॉस्पिटल बेड्स की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे हैं। मैं उनको चेतावनी देना चाहता हूं ऐसे हॉस्पिटल को बख्शा नहीं जाएगा। अस्पताल इलाज करवाने के लिए बनवाए गए हैं, पैसे कमाने के लिए नहीं।

केजरीवाल ने कहा, मंगलवार को एक ऐप लॉन्‍च किया गया है। इससे पता चल जाएगा कि किस अस्‍पताल में कितने बेड हैं, कितने वेंटिलेटर्स हैं। इसके बाद से ही बवाल मचा हुआ है। अब इस ऐप के पर अस्‍पताल खुद अपडेट कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, कई निजी अस्पतालों के मालिक अपनी ऊंची पहुंच के दम पर कोरोना रोगियों को अपने अस्पतालों में जगह नहीं दे रहे हैं। ऐसे किसी भी अस्पताल को बख्शा नहीं जाएगा। हालांकि उन्होंने अधिकांश निजी अस्पतालों की प्रशंसा भी की है। सीएम ने कहा, ज्यादातर प्राइवेट हॉस्पिटल संकट की इस घड़ी में दिल्ली वालों की सेवा कर रहे हैं, लेकिन कुछ गिने-चुने अस्पताल बेड्स की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे हैं।

दिल्ली सरकार के मुताबिक, निजी अस्पतालों के साथ इस विषय पर बैठक की जा रही है। अभी तक 33 निजी अस्पतालों के साथ बैठक हो चुकी है और शेष ऐसे अस्पताल जो लिस्ट में है, उनके मालिकों को भी बुलाकर इस विषय पर स्पष्ट निर्देश दिए जा रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली में आज भी 5300 सैंपल की टेस्टिंग की गई है। कोरोना जांच में कुल 42 लैब काम कर रही हैं। इनमें से छह के खिलाफ शिकायतें मिली हैं, जिसके बाद इनके ऊपर कार्रवाई की गई है। हालांकि 36 लैब अभी भी बदस्तूर कोरोना जांच कर रही हैं। इनके अलावा सभी सरकारी और कई प्राइवेट अस्पतालों ने फ्लू क्लीनिक बनाए हैं, जहां कोरोना की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...