comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

दिल्ली: पूर्वी नगर निगम की बैठक में हंगामा, AAP और BJP पार्षदों के बीच जमकर चले जूते-चप्पल, नेता विपक्ष 15 दिन के लिए सस्पेंड

दिल्ली: पूर्वी नगर निगम की बैठक में हंगामा, AAP और BJP पार्षदों के बीच जमकर चले जूते-चप्पल, नेता विपक्ष 15 दिन के लिए सस्पेंड

हाईलाइट

  • सोमवार को पूर्वी निगम की साधारण सभा बुलाई गई थी
  • नेता सदन के हाथ से प्रस्ताव छीन कर फाड़ा
  • बीजेपी-AAP नेे दी एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली के नगर निगम ऑफिस में बैठक के दौरान सोमवार को जमकर हंगामा हुआ। यही नहीं सदन की बैठक में आम आदमी पार्टी (AAP) और भाजपा पार्षदों के बीच जमकर हाथापाई और गाली गलौज हुई। नौबत यहां तक आ गई कि महिला पार्षदों के बीच जूते चप्पल भी चल गए। न्यूज एजेंसी के अनुसार पार्षद फंड की हेराफेरी और केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। तभी उनके बीच मारपीट शुरू हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पार्षदों पर सदन की कार्यवाही बाधित करने के लिए एक्शन भी लिया गया है।

जानकारी के मु​ताबिक, पूर्वी दिल्ली नगर निगम मुख्यालय के सभागार में दोपहर 2.30 सदन की बैठक रखी गई थी। बैठक की शुरुआत में आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने किसान आंदोलन के दौरान जिन किसानों की मौत हुई उन्हें श्रद्धांजलि देने का प्रस्ताव रखा। बैठक के दौरान नेता विपक्ष मनोज त्यागी की तरफ से किसान आंदोलन के दौरान मृतक किसानों के लिए शोक प्रस्ताव रख रहे थे, जिसका सत्ता पक्ष के पार्षदों ने विरोध किया। उसके बाद दोनों पक्ष की ओर से हंगामा शुरू हो गया। हंगामा इतना ज्यादा बढ़ गया कि विपक्षी पार्टी से पार्षद गीता रावत महापौर के आसन तक पहुंच गईं। यही नहीं, नेता विपक्ष मनोज कुमार त्यागी द्वारा पूर्व महापौर बिपिन बिहारी से हाथापाई भी की गई और सदन ना चलने देने की मंशा से निगम में प्रस्तुत एजेंडे को भी नेता सदन के हाथ से खींचकर फाड़ डाला।  

AAP ने लगाया घोटाले का आरोप
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भाजपा शासित उत्तरी नगर निगम में कथित तौर पर 2500 करोड़ रुपए की हेराफेरी को लेकर AAP पार्षद हंगामा करने लगे। इस दौरान वे ऑफिस में पर्चे लहरा रहे थे और नारेबाजी भी कर रहे थे। उनकी मांग है कि मामले की CBI जांच कराई जाए।

भाजपा ने लगाया कर्मचारियों को सैलरी न देने का आरोप
भाजपा पार्षदों ने दिल्ली सरकार पर निगम कर्मचारियों को सैलरी ने देने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार निगम कर्मचारियों की सैलेरी का पैसा रिलीज नहीं कर रही है। भाजपा पार्षदों ने भी दिल्ली सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच हाथापाई शुरू हो गई।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा हाथापाई का वीडियो
हंगामे के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिनमें आम आदमी पार्टी की पार्षद मोहिनी जीनवाल के हाथ में चप्पल दिखाई दी तो वहीं बीजेपी की पार्षद नीतू त्रिपाठी जूता लहराते हुए दिखाई दीं। बैठक में हुए हंगामे को देखते हुए पूर्वी दिल्ली के महापौर निर्मल जैन ने सदन में नेता विपक्ष AAP पार्षद मनोज कुमार त्यागी और AAP पार्षद मोहिनी जीनवाल को उनके व्यवहार के कारण सदन की बैठक से 15 दिन तक के लिए निलंबित कर दिया।

थाने तक पहुंचा मामला
इस मामले में बीजेपी की ओर से भी पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की बात सामने आ रही है। साथ ही AAP पार्षद गीता रावत को उनके व्यवहार के कारण अनुशासात्मक कार्रवाई के लिए पत्र जारी करने को कहा है। पूरे मामले में आम आदमी पार्टी के 3 पार्षदों मनोज कुमार त्यागी, गीता रावत और मोहिनी जीनवाल की ओर से दिल्ली के पटपड़गंज थाने में बीजेपी पार्षद बिपिन बिहारी सिंह, संतोष पाल और कन्हैया लाल के खिलाफ शिकायत दी गई है।

महापौर बोले- जितनी निंदा की जाए कम है
महापौर निर्मल जैन ने कहा कि पूर्वी निगम की साधारण सभा में विपक्षी पार्टी द्वारा अलोकतांत्रिक, असभ्य और अशोभनीय व्यवहार का उग्र प्रदर्शन किया गया, जिसकी जितनी निंदा की जाए, वो कम है।

कमेंट करें
87erB
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।