comScore

Mobile Lab: भारत की पहली मोबाइल लैब लॉन्च, अब गांव-कस्बों में भी हो सकेगा कोरोना टेस्ट

Mobile Lab: भारत की पहली मोबाइल लैब लॉन्च, अब गांव-कस्बों में भी हो सकेगा कोरोना टेस्ट

हाईलाइट

  • कोरोना टेस्टिंग को रफ्तार देने की कोशिश में सरकार
  • स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लॉन्च की मोबाइल लैब
  • इन्हें देश के ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाएगा तैनात

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को कम करने के लिए सरकार तमाम उपाय कर रही है। अब सरकार संक्रमण के प्रसार पर लगाम लगाने के लिए गांव-कस्बों में भी कोरोना टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ाने की कोशिश में जुट गई है। इसी के लिए गुरुवार को मोबाइल लैब की शुरुआत की गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोरोना टेस्ट के लिए भारत की पहली मोबाइल लैब लॉन्च की।

इन मोबाइल लैब को देश के ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा, ये प्रतिदिन 25 RT-PCR टेस्ट, 300 ELISA टेस्ट कर सकती हैं।  डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, हमने कोविड-19 टेस्टिंग की लड़ाई 1 फरवरी से एक लैब से शुरू किया था। आज देश भर में हमारे पास 953 लैब हैं। इन 953 में से लगभग 699 सरकारी लैब हैं। दूर-दराज के क्षेत्रों में टेस्ट की सुविधाओं को सुनिश्चित करने के लिए ऐसे इनोवेशन विकसित किए गए हैं।

सरकार के मुताबिक, इन मोबाइल लैब का इस्तेमाल ऐसी जगहों के लिए किया जाएगा, जहां लैब की सुविधा नहीं है। गांव-कस्बों में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने ये भी कहा कि, हमारे देश में फरवरी में सिर्फ एक ही लैब थी, लेकिन आज 953 लैब हैं। इनमें से करीब 700 लैब सरकारी हैं। अब देश में कोरोना के टेस्ट ज्यादा होंगे।

कमेंट करें
EfGHB