दैनिक भास्कर हिंदी: गुपकार समूह से बैठक के कुछ ही दिन बाद कश्मीर में होने जा रहा है बड़ा बदलाव, विधानसभा चुनाव पर पड़ेगा असर

July 9th, 2021

हाईलाइट

  • जम्मू कश्मीर पहुंचा परिसीमन आयोग
  • चुनाव से पहले बढ़ेंगी विधानसभा सीटें

डिजिटल डेस्क, जम्मू-कश्मीर। अभी कुछ ही दिन पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने गुपकार समूह के साथ बड़ी बैठक की है। बैठक में कश्मीर के मुद्दों पर चर्चा हुई। कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की भी मांग उठी। उन सबसे अलग अब कश्मीर का स्वरूप बदलने पर बड़ा काम हो गया है. चुनाव से पहले राजनीतिक तौर पर कश्मीर में बड़े बदलाव संभव हैं.
जम्मू कश्मीर में परिसीमन आयोग के चेयरपर्सन रंजना प्रकाश देसाई और सदस्य सुशील चंद्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया शुरु कर दी गई है, यह मार्च 2022 तक पूर्ण हो जाएगी और इसके बाद यहां विधानसभा की सात सीटें बढ़ जायेंगी।  
रंजना प्रकाश देसाई ने कहा कि, 'हम यहां तीन दिनों से है। हम कानून के हिसाब से काम करेंगे। सभी दलों विचारों को लिखा गया है। उन्होंने कहा कि परिसीमन 2011 के सेंसस पर आधारित होगा। बता दें, पिछले परिसीमन पर 12 जिले थे लेकिन अब प्रदेश में 20 जिले हो गए है। आयोग के सदस्यों ने 290 से अधिक दलों और संगठनों से मुलाकात की है। जिसमें 800 के आस -पास सदस्य थे। इन दलों व सदस्यों ने परिसीमन पर खुशी जताई।  कुछ दलों ने राजनतिक आरक्षण की भी मांग की है।'
उल्लेखनीय है कि परिसीमन आयोग ने इस मामले को लेकर चीफ सेक्रेटरी से मुलाकात की है। उन्होंने प्रदेश के एक अधिकारी को नोडल अफसर बनाने की मांग रखी है।  परिसीमन आयोग ने कहा है कि जिन लोगों को इस परिसीमन पर कोई राय देनी हो वो  नोडल अफसर को अपनी राय दे सकते हैं। जिन राजनीतिक पार्टीयों ने परिसीमन आयोग से दूरी बनाई है, हम दुआ करते है वो अगर मिलने आते।  हम यकीन दिलाते है कि यह प्रक्रिया कानून के मुताबिक पूरी तरह पारदर्शी होगी। हमारे लिए जम्मू और कश्मीर एक यूटी है। भूगौलिक स्थितियों को पहले परिसीमन में ध्यान नहीं रखा गया है।
 

खबरें और भी हैं...