comScore

कठुआ: कपड़ा मिल में सैलरी न मिलने पर मजदूरों ने किया पथराव, गाड़ियां फोड़ीं, SSP ने भोजपुरी में समझाया

कठुआ: कपड़ा मिल में सैलरी न मिलने पर मजदूरों ने किया पथराव, गाड़ियां फोड़ीं, SSP ने भोजपुरी में समझाया

हाईलाइट

  • कोरोना संकट के बीच मजदूरों का हंगामा
  • सैलरी ना मिलने पर मिल के बाहर प्रदर्शन

डिजिटल डेस्क, कठुआ। कोरोना महासंकट के बीच जम्मू रीजन के कठुआ क्षेत्र में शुक्रवार को कपड़ा मिल में काम करने वाले मजदूरों ने जमकर हंगामा मचाया। मजदूरों ने आरोप लगाया कि उन्हें पूरा वेतन नहीं दिया जा रहा है। प्रदर्शन के दौरान मजदूरों और पुलिस के बीच भी झड़प भी हुई है। मजदूरों ने पुलिस के वाहनों और आसपास के इलाके में तोड़फोड़ की। वहीं मौके पर पहुंचे SSP ने भोजपुरी में बात कर लोगों को समझाया।

जानकारी अनुसार शुक्रवार सुबह सैकड़ों मजदूर कठुआ की सड़कों पर उतरे और कपड़ा मिल के आसपास के इलाके में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इस दौरान वहां मौजूद कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया। मजदूरों का कहना था कि लॉकडाउन के कारण वे भुखमरी की कगार पर हैं। बावजूद इसके मिल की ओर से न ही वेतन का भुगतान किया जा रहा है और न ही इस संबंध में कोई आश्वासन दिया जा रहा है। मजदूरों की मांग है उनके बकाया वेतन का भुगतान किया जाए।

वाहनों में की तोड़फोड़,पुलिस ने की लाठीचार्ज
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस के साथ मजदूरों की झड़प हो गई। इस दौरान मजदूरों ने पुलिस के वाहनों में तोड़फोड़ की। भीड़ का उग्र होता देख पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया। इससे आक्रोशित मजदूरों ने पुलिस पर पथराव किया। जम्मू पठानकोट नेशनल हाईवे पर जाम लगा हुआ है। मामले की गंभीरता को देखते हुए काफी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है।

IPS शैलेंद्र मिश्रा ने भोजपुरी में मजदूरों को समझाया
ताजा जानकारी के अनुसार यहां लोगों को समझाने पहुंचे IPS शैलेंद्र मिश्रा ने भोजपुरी भाषा में लोगों से बात की और उन्हें भरोसा दिया कि वो मिल मालिक से बात कर उनकी बाकी सैलरी दिलवाएंगे और उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो मजदूर अपने गृह जिले जाना चाहते हैं उनको भेजने की व्यवस्था प्रदेश सरकार की ओर से की जा रही है। इससे पहले भी प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है कि मजदूरों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो।

कमेंट करें
Xu5im