comScore

महिला तहसीलदार को बचाने की कोशिश करने वाले ड्राइवर की भी मौत

महिला तहसीलदार को बचाने की कोशिश करने वाले ड्राइवर की भी मौत

हाईलाइट

  • सोमवार को तहसीलदार विजया रेड्डी की दफ्तर में जिंदा जलाकर हत्या कर दी थी
  • ड्राइवर और अधिकारी का सहायक उन्हें को बचाने के चक्कर में झुलस गए थे

डिजिटल डेस्क, रंगारेड्डी। तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले में दफ्तर के अंदर महिला तहसीलदार को जिंदा जलाकर मारने के मामले में मंगलवार को एक और मौत हो गई है। अधिकारी को बचाने में उनका ड्राइवर गुरुनाथम भी बुरी तरह झुलस गया था। अस्पताल में इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया। सोमवार को अब्दुल्लापुरमेट में तहसीलदार विजया रेड्डी (37) की दफ्तर में जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई थी। हमले में ड्राइवर और अधिकारी का सहायक सहित आरोपी के सुरेश भी बुरी तरह झुलस गया था। तीनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

राचकोंडा के पुलिस आयुक्त महेश एम भागवत ने बताया कि विजया को बचाने की कोशिश में उनके दो कर्मचारी भी जल गए थे, जिनमें से एक उनका ड्राइवर गुरुनाथम भी था। दोनों का अस्पताल में उपचार किया जा रहा था, लेकिन ज्यादा जलने से ड्राइवर ने अस्पताल में ही दम तोड़ दिया।

ज्ञात हो कि घटना के समय विजया अपने कमरे में अकेली थीं। सुरेश नाम के एक स्थानीय व्यक्ति ने कथित रूप से वहां प्रवेश किया और उनके ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। दिन दहाड़े हुई इस घटना से तहसीलदार कार्यालय में हड़कंप मच गया था। एक चश्मदीद ने बताया कि उनके कमरे से चीखने की आवाज आई और एक कर्मचारी दौड़कर तहसीलदार के कमरे में गया और उन्हें आग की लपटों से घिरा पाया।

पुलिस सुरेश के परिवार वालों से पूछताछ कर रही है। उसके फोन विवरण को खंगाल रही है और जमीन के दस्तावेजों की जांच कर रही है। शुरुआती जांच के आधार पर भागवत ने बताया, ''ऐसा लगता है कि किसी जमीन विवाद के चलते हमला हुआ है। उसने ऐसा क्यों किया या किसी ने उसे ऐसा करने के लिए उकसाया, ये जांच के दौरान पता चलेगा।

कमेंट करें
ZJdbk