दैनिक भास्कर हिंदी: वधावन बंधु को हिरासत में ले ईडी-सीबीआई: महाराष्ट्र सरकार

April 22nd, 2020

हाईलाइट

  • वधावन बंधु को हिरासत में ले ईडी-सीबीआई : महाराष्ट्र सरकार

डिजिटल डेस्क, मुंंबई (आईएएनएस)। महाराष्ट्र सरकार ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से घोटाले के आरोपी डीएचएफएल समूह के प्रमोटर्स वधावन बंधु को हिरासत में लेने के लिए कहा है। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने यहां कहा कि कपिल और धीरज वधावन की इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन अवधि बुधवार को समाप्त हो रही है ।

देशमुख ने कहा, वधावन बंधु का क्वारंटाइन आज (बुधवार को) दोपहर दो बजे खत्म हो रही है। हमने मंगलवार को सीबीआई और ईडी को कहा कि वे उन्हें हिरासत में ले लें। हालांकि, उन्होंने इस बात को स्पष्ट किया कि जब तक उन्हें सीबीआई या ईडी के हवाले नहीं किया जाता है, तब तक वे राज्य सरकार की हिरासत में सुरक्षित रहेंगे।

देशमुख ने कहा, वे हमारी हिरासत में सकुशल और सुरक्षित रहेंगे.. किसी को भी लंदन जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी..आगे की जांच के लिए जब भी सीबीआई हमसे कहेगी, हम उन्हें (वधावन बंधु को) उनके हवाले कर देंगे।

कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर लागू किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच 8 अप्रैल को वधावन बंधुओं और उनके परिजनों को पुणे में खंडाला हिल स्टेशन से सतारा जिले में महाबलेश्वर हिल स्टेशन तक यात्रा करने की अनुमति दिए जाने के बाद राजनीति गर्मा गई थी।

महाबलेश्वर में 9 अप्रैल को उन्हें हिरासत में लिया गया और पंचगनी में इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में भेज दिया गया। बाद में वधावन बंधुओं ने दावा कर कहा कि वे सभी वास्तव में कोविड-19 महामारी के प्रसार से बचने के लिए खंडाला में किराए के आवास से महाबलेश्वर में अपने पैतृक आवास में जा रहे थे।

बढ़े विवाद के बाद इसमें सीबीआई और ईडी भी कूद पड़े, राज्य सरकार ने उन्हें वहां जाने की अनुमति देने के लिए एक आईपीएस अधिकारी की भूमिका पर भी उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए। गौरतलब है कि मार्च की शुरुआत में सामने आए घोटाले के मामले में येस बैंक बैंक के संस्थापक राणा कपूर के साथ डीएचएफएल समूह और वधावन भाइयों को आरोपी बनाया गया है।

 

खबरें और भी हैं...