दैनिक भास्कर हिंदी: चुनाव घोषणा पत्र: डीएमके ने राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई का किया वादा

March 20th, 2019

हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव के लिए एआईएडीएम का घोषणापत्र जारी
  • आयकर छूट सीमा को 8 लाख रुपए करने का वादा किया
  • अम्मा राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन स्कीम नाम से योजना का वादा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एआईएडीएमके अध्यक्ष एम के स्टालिन ने मंगलवार को लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र जारी किया। इस घोषणापत्र में किसानों द्वारा लिए गए कृषि ऋण को माफ करने का वादा किया है। साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों के शिक्षा ऋण माफ करने की बात घाषणा पत्र में कही है। घोषणापत्र जारी करने के साथ ही उन्होंने राजीव गांधी की हत्या में शामिल सातों दोषियों की सजा माफ करने का वादा किया है।

अपने चुनावी घोषणा पत्र में एआईएडीएमके ने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने पर पार्टी जेल में बंद राजीव गांधी हत्याकांड के आरोपियों को रिहा कराने के लिए प्रयास करेगी। वह भारत सरकार और राष्ट्रपति से सभी दोषियों को रिहा करने से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के आदेश और तमिलनाडु सरकार की कैबिनेट की तरफ से पारित प्रस्ताव को लागू करने की इजाजत मांगेगी। 

घोषणा पत्र में ये वादे भी शामिल
.
डीएमके ने आयकर छूट सीमा को 5 लाख रुपए से बढ़ाकर 8 लाख रुपए करने की बात भी कही है। 
. महिलाओं एवं दिव्यांगजानों के लिए आयकर छूट की सीमा भी 10 लाख रुपए तक करने का भी वादा घोषणा पत्र में किया है। 
. पार्टी ने अम्मा राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन स्कीम नाम से योजना शुरू करने का वादा किया। 
. इस योजना के तहत गरीब परिवारों को हर महीने 1500 रुपए की नकद सहायता दी जाएगी।
. डीएमके ने पुरानी पेंशन योजना, रसोई गैस और ईंधन की कीमतें तय करने के फार्मूले को वापस लाने का वादा भी किया है।
. नोटबंदी घोषणा पत्र में इस नोटबंदी पीड़ितों के परिवार को मुआवजा देने का वादा भी डीएमके ने किया है। 
. डीएमके ने अपने घोषणापत्र में पुडुचेरी को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने, श्रीलंका से आए शरणार्थियों को नागरिकता दिलाने, मनरेगा के तहत 150 दिन रोजगार की गारंटी देने का वादा किया है।
. चुनावी घोषणा पत्र में डीएमके ने कहा है कि सेतुसमुद्रम परियोजना को पुनर्जीवित करने का प्रयास भी पार्टी करेगी।