दैनिक भास्कर हिंदी: विधानसभा चुनाव रिजल्ट: शुरुआती रुझानों में कांग्रेस को बढ़त, छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के करीब

December 11th, 2018

हाईलाइट

  • हर राउंड के बाद प्रत्याशियों को दिए जाएंगे सर्टिफिकेट
  • काउंटिंग सॉफ्टवेयर पर रिटर्निंग ऑफिसर अपलोड करेगा डाटा
  • राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को राउंडवार गणना की शीट दी जाएगी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के मतों की गिनती शुरू हो गई है। शरुआती रुझानों में कांग्रेस भाजपा को पछाड़ती नजर आ रही है। मध्यप्रदेश में 110 सीटों पर कांग्रेस तो 104 सीटों पर भाजपा आगे चल रही है तो वहीं 4 सीटों पर अन्य का दबदबा बना हुआ है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस 46 तो भाजपा 34 सीटों पर आगे चल रही है। राजस्थान में कांग्रेस 81 तो भाजपा 69 सीटों पर आगे चल रही है। तेलंगाना में टीआरएस 57, कांग्रेस 33 और भाजपा 6 सीटों पर आगे चल रही है। मिजोरम में एमएनएफ 16, कांग्रेस 11 और भाजपा 2 सीटों पर आगे चल रही है।

 

बता दें कि इस बार चुनाव नतीजों के लिए लंबा इंतजार करना पडे़गा। इसका कारण कांग्रेस की वो मांग है, जिसे चुनाव आयोग ने मान लिया है, जिसके मुताबिक अब मतगणना के हर राउंड के बाद रिजल्ट की जानकारी लिखित रूप में दी जाएगी। ये प्रक्रिया मध्यप्रदेश के अलावा छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम में भी अपनाई जाएगी। दिल्ली से चुनाव आयोग ने शनिवार को आदेश जारी किए हैं।

 

14 टेबल लगीं, 16-20 राउंड में होगी गणना
एक राउंड की काउंटिंग खत्म होने के बाद ही दूसरी ईवीएम स्ट्रांग रूम से गणना के लिए बाहर निकाली जाएगी। मतगणना के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में 14 टेबल लगाई गई हैं। मतगणना 16-20 राउंड में की जाएगी। मतगणना के बाद हर राउंड के परिणाम घोषित किए जाएंगे और डिस्प्ले पर भी उसका प्रदर्शन किया जाएगा, इसलिए हर बार आधा-पौन घंटे का वक्त लग सकता है। मतगणना पूरी तरह से पूर्ण होने में 10 घंटे से भी ज्यादा का समय लग सकता है। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को राउंडवार गणना की शीट दी जाएगी और काउंटिंग सॉफ्टवेयर पर रिटर्निंग ऑफिसर उसे अपलोड करेगा।

 

9 बजे शुरू हुई ईवीएम की गणना
मतगणना के दिन मंगलवार (11 दिसंबर) की सुबह 8 बजे सबसे पहले सेवा मत और डाक मत पत्रों की गणना हुई। गणना के लिए विधानसभावार टेबल लगाए गए। एक टेबल में 500 मतों की ही गिनती की गई। मत पत्रों की गिनती के बाद 9 बजे के आसपास ईवीएम की गणना शुरू हुई। एआरओ और आरओ से मिलान होने के बाद गणना को टेबुलेशन के लिए भेज दिया जाएगा। टेबुलेशन के बाद एक बार फिर मिलान करने की बारी आरओ की होगी। इसके बाद ऑब्जर्वर मिलान करेगा। हर राउंड के बाद तकरीबन 15 से 20 मिनट का खाली समय बचेगा, जिसमें मतगणना करने वाली टीम खाली बैठी रहेगी। 

खबरें और भी हैं...