comScore

बारिश और ठंड के बीच 37वें दिन पहुंचा आंदोलन,किसान बोलें- उम्मीद हैं कल हमारी मांगें हो जाएंगी पूरी

बारिश और ठंड के बीच 37वें दिन पहुंचा आंदोलन,किसान बोलें- उम्मीद हैं कल हमारी मांगें हो जाएंगी पूरी

हाईलाइट

  • 4 जनवरी को होगी अगली वार्ता
  • किसानों को हैं उम्मीद, सरकार करेगी स्वीकार उनकी सभी मांगें
  • गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली होगी आयोजित

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध किसान दिल्ली बॉर्डर पर कर रहे हैं। राजधानी की कड़कड़ाती ठंड और बारिश में भी इनके हौसले जस के तस हैं। वही आज आंदोलन 37वें दिन में प्रवेश कर चुका हैं और किसान यूनियन के नेताओं के साथ केंद्र सरकार की अगली बैठक 4 जनवरी यानि कल हैं। 

बता दें कि, इससे पहले, 30 दिसंबर को किसान यूनियन और सरकार के बीच बातचीत हुई थी, जिसमें दो मुद्दों पर सहमति बनी थी। लेकिन किसान लगातार कृषि कानून को निरस्त करने की मांग पर डंटे हुए हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन में बैठे एक प्रदर्शनकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान कहा कि, "हम ऐसे खराब मौसम में अपने परिवार से दूर सड़कों पर बैठे हैं, हम उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार कल हमारी मांगों को स्वीकार करेगी।" 

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों ने दिल्ली बॉर्डर पर ट्रैक्टर रैली आयोजित करने की धमकी सरकार को देते हुए कहा कि, 23 जनवरी को, यानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभी राज्यपालों के आवास पर विरोध प्रदर्शन किए जाएंगें। किसान आंदोलन का समन्वय कर रही 7 सदस्यीय समन्वय समिति ने शनिवार को अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार को यह अल्टीमेटम दिया।

कमेंट करें
mLfgM