comScore

फारूक गांधी या राहुल अब्दुल्ला, एक ही सिक्के के दो पहलू : भाजपा

October 12th, 2020 19:01 IST
 फारूक गांधी या राहुल अब्दुल्ला, एक ही सिक्के के दो पहलू : भाजपा

हाईलाइट

  • फारूक गांधी या राहुल अब्दुल्ला, एक ही सिक्के के दो पहलू : भाजपा

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर (आईएएनएस)। नैशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के अनुच्छेद 370 को लेकर दिए गए बयान पर विवाद छिड़ गया है। अब्दुल्ला के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने निशाना साधा है। इसके साथ ही उन्होंने फारूक अब्दुल्ला के बयान को देश विरोधी करार दिया है।

एक संवाददाता सम्मेलन में, भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने अब्दुल्ला के साथ ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी पार्टी पर भी जमकर निशाना साधा और आरोप लगाया कि कांग्रेस ने तुर्की में एक नया कार्यालय खोला है, जो भारत विरोधी रुख के लिए जाना जाता है।

पात्रा ने कहा, चाहे आप उन्हें फारूक गांधी कहें या राहुल अब्दुल्ला, दोनों में कोई अंतर नहीं है। दोनों एक ही हैं, पूरी तरह समान हैं। दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

अब्दुल्ला ने हाल ही में एक साक्षात्कार के दौरान कई विवादित बातें कही हैं, जिस पर बड़ी बहस छिड़ गई है।

पात्रा ने कहा, पाकिस्तान और चीन के लिए नरमी और भारत के बारे में इस तरह की बेशर्मी, अपने आप में बहुत सारे सवाल खड़े करती है।

उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा, देश की संप्रभुता पर प्रश्न उठाना, देश की स्वतंत्रता पर प्रश्नचिन्ह लगाना, क्या एक सांसद को शोभा देता है? क्या ये देश विरोधी बातें नहीं हैं?

साक्षात्कार के दौरान फारूक अब्दुल्ला ने कहा था, केंद्र द्वारा हटाए गए अनुच्छेद-370 का चीन ने कभी भी समर्थन नहीं किया है। चीन शुरू से ही इस फैसले का विरोध करता रहा है और यही कारण है कि वो एलएसी पर लगातार अपना आक्रामक रुख दिखा रहा है। हम चीन की मदद से एक बार फिर से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को वापस लेकर आएंगे।

पात्रा ने अब्दुल्ला के विवादित बयान पर दुख जताते हुए कहा, एक तरह से फारूक अब्दुल्ला अपने साक्षात्कार में चीन की विस्तारवादी मानसिकता को सही ठहराते हैं। साथ ही वह एक और भारत विरोधी टिप्पणी करते हैं कि अगर उन्हें भविष्य में मौका मिलता है, तो वे अनुच्छेद 370 को चीन की मदद से वापस लाएंगे।

भाजपा ने आरोप लगाया कि सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट हवाई हमले पर राहुल गांधी पाकिस्तान में हीरो बन गए, जबकि अब फारूक अब्दुल्ला चीन में हीरो बन गए हैं।

एकेके/एएनएम

कमेंट करें
WjTyH