comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

पूर्वोत्तर के कई हिस्सों में बाढ़ से तबाही, त्रिपुरा सीएम ने किया हवाई सर्वेक्षण

June 14th, 2018 13:27 IST

हाईलाइट

  • पूर्वोत्तर के राज्यों में भारी बारिश, कई जिलों में बाढ़।
  • भारी बारिश से त्रिपुरा और मिजोरम के कई इलाके डूबे।
  • त्रिपुरा में चार लोगों की मौत।
  • अधिकांश नदियों का बहाव खतरे के निशान के ऊपर।
  • भूस्खलन से त्रिपुरा और मिजोरम में यातायात प्रभावित।
  • त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने राज्य के उत्तरी हिस्से का हवाई सर्वेक्षण किया।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पूरे पूर्वोत्तर में दस्तक दे चुका है। पूर्वोत्तर के चार राज्यों- असम, त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। लोगों का जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इन राज्यों के कई जिले पूरी तरह जलमग्न हो गए हैं। लोगों के घरों में पानी घुस गया है। लैंडस्लाइड की वजह कई लोगों की मौत भी हो गई है। सबसे ज्यादा त्रिपुरा में बाढ़ ने तबाही मचाई है। सीएम बिप्लब देब ने इन इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी किया।

त्रिपुरा-मिजोरम में बाढ़ से तबाही

बुधवार को भी त्रिपुरा और मिजोरम में मूसलाधार बारिश ने कहर बरसाया। अधिकारियों के मुताबिक त्रिपुरा के कई गांव बाढ़ की चपेट में हैं। लोगों के घर पूरी तरह पानी में डूब गए हैं। अलग-अलग जगहों पर चार लोगों की मौत हो चुकी है। त्रिपुरा की कई नदियों का वॉटर लेवल खतरे के निशान को पार कर गया है। धान के खेतों में सिर्फ पानी नजर आ रहा है। 

त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने किया हवाई सर्वेक्षण

त्रिपुरा और मिजोरम में कई जगहों पर भूस्सखलन होने से यातायात प्रभावित हो गया है। त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देब ने राज्य के उत्तरी भागों के सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने लोगों से निचले इलाके से निकलकर सुरक्षित स्थानों और राहत शिविरों में जाने की अपील की है। 

त्रिपुरा में चार लोगों की मौत

त्रिपुरा आपदा प्रबंधन नियंत्रण केंद्र के एक अधिकारी ने बताया भूस्सखलन, पेड़ गिरने और मछली पकड़ने के दौरान कुल चार लोगों की मौत हो गई है। वहीं उत्तरी त्रिपुरा स्थित करीब 200 राहत शिविरों में 6500 परिवारों के 1500 से अधिक लोगों ने बुधवार दोहपर तक शरण ली थी। अधिकारी ने बताया कि बाढ़ में फंसे लोगों को निकालकर राहत शिविरों तक पहुंचाने के लिए 'पवन हंस हेलीकॉप्टर' का तैयार रखा है। इसके अलावा एयरफोर्स से दो और हेलीकॉप्टर की मांग की गई है।

मिजोरम में कई दिनों से जारी बारिश ने तबाही मचा दी है। यहां बाढ़ प्रभावित इलाकों से सैकड़ों परिवारों को खाली करवाया गया है। राज्य के कई रिहायशी इलाके, धान के खेत, सड़क और निचले इलाके बाढ़ से प्रभावित हैं। बिजली के खंभे और पेड़ उखड़ने से बिजली आपूर्ति भी बाधित है। वहीं पिछले सप्ताह राज्य के लुंग्लेई जिले के लुंग्लावन में भूस्सखलन के दौरान 10 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि नाबालिग सहित चार लोग घायल हो गए थे। 

मौसम विभाग ने मेघालय और असम के कई जिलों में तीन दिन के लिए हाई अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग का कहना है कि दोनों राज्यों के कई जिलों में 16 जून तक भारी बारिश हो सकती है। वहीं असम के करीमगंज जिले में सिंगला और लंगई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।  

कमेंट करें
I7Z9F
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।