comScore

बीजेपी सांसद के विवादित दावे पर फडणवीस की सफाई- नहीं लिया केन्द्र को 40 हजार करोड़ लौटाने का निर्णय


हाईलाइट

  • बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े का बड़ा दावा
  • फडणवीस ने एक दिन का मुख्यमंत्री बनकर बचाया 40 हजार करोड़ का फंड !
  • शिवसेना-कांग्रेस ने किया पलटवार

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कर्नाटक से बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े के अपनी ही पार्टी के लिए मुश्किल बढ़ाने वाले बयान पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सफाई दी है। दरअसल, अनंत कुमार हेगड़े ने दावा किया था कि महाराष्ट्र में बीजेपी ने फडणवीस को 40 हजार करोड़ का फंड बचाने के लिए मुख्यमंत्री बनाकर ड्रामा किया। सीएम के पास करीब 40 हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी, ये राशि फडणवीस ने दोबारा सीएम बनकर केंद्र को वापस कर दी, ताकि शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सरकार इसका दुरुपयोग ना कर सके। हालांकि बयान सामने आते ही शिवसेना और कांग्रेस हमलावर हो गईं और इसे महाराष्ट्र के साथ गद्दारी बताया। बात बिगड़ते देख फडणवीस खुद सामने आए और सफाई दी कि हेगड़े का दावा गलत है। ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया।

देवेन्द्र फडणवीस की सफाई
अनंत कुमार हेगड़े के बयान पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सफाई देते हुए कहा, महाराष्ट्र सरकार ने कोई भी पैसा केन्द्र को ट्रांसफर नहीं किया है। मेरे द्वारा ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया है। मूल रूप से बुलेट ट्रेन केंद्र सरकार की कंपनी के तहत तैयार हो रही है। जिसमें महाराष्ट्र सरकार का काम केवल लैंड इक्वेशन का है। इसलिए महाराष्ट्र सरकार को पैसे देने का कोई सवाल नहीं उठता। सीएम ने कहा, बुलेट ट्रेन हो या कोई चीज हो केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र से कोई पैसा नहीं मांगा, ना सरकार ने पैसा दिया है। मैं चाहता हूं कि वित्त विभाग द्वारा इस मामले की जांच कराई जाए ताकि जो सच है वो समाने आ सके है। मैं हेगड़े की इस बयान को पूरी तरह से नकारता हूं। 

क्या था हेगड़े का पूरा बयान 
हेगड़े ने अपने बयान में कहा, 'आप ये तो जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा नेता (फडणवीस) 80 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बना और उसके बाद इस्तीफा दे दिया। क्या आप जानते है ऐसा क्यों है ? ये नाटक क्यों किया ? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बन गए।यह वह सवाल है जो हर कोई पूछता है। हेगड़े ने कहा, मुख्यमंत्री के पास करीब 40 हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी।अगर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सत्ता में आते तो वे 40 हजार करोड़ का दुरुपयोग करते। यही कारण है कि केंद्र सरकार के इस पैसे को विकास के लिए इस्तेमाल में नहीं लाया जा सके, इसके लिए ड्रामा किया गया। 

हेगड़ ने कहा, हमें पहले से पता था कि बहुमत नहीं सरकार बनाने मुश्किल है। लेकिन, बहुत पहले से बीजेपी की यह योजना थी। इसलिए यह तय किया गया कि एक नाटक होना चाहिए और इसी के तहत फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली। शपथ लेने के 15 घंटे के अंदर फडणवीस ने सभी 40 हजार करोड़ रुपयों को उस जगह पर पहुंचा दिया जहां से वो आए थे। इस तरह फडणवीस ने सारा पैसा वापस केंद्र सरकार को देकर बचा लिया। 

शिवसेना का पलटवार 
हेगड़े के बयान पर शिवसेना ने पलटवार किया है। संजय राउत ने ट्विट करते हुए लिखा, बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि फडणवीस महाराष्ट्र के 40 हजार रुपये करोड़ केन्द्र को ट्रांसफर करने के लिए 80 घंटे के मुख्यमंत्री 80 बने थे, तो ये महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है।

कांग्रेस का हमला 
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने ट्वीट करते हुए लिखा, एक केंद्रीय मंत्री ने खोली मोदी सरकार की पोल, भाजपा का महाराष्ट्र विरोधी चेहरा बेनक़ाब हुआ क्या संघीय ढाँचे को पाँव तले रोंद दिया गया, क्या जनता व किसान की भलाई का ₹40,000 करोड़ एक षड्यंत्र से वापस ले लिया गया? प्रधान मंत्री जवाब दें!

कमेंट करें
uKMnQ