दैनिक भास्कर हिंदी: 20 साल पहले छोड़ा था साथ, तारिक अनवर ने फिर थामा कांग्रेस का हाथ

October 27th, 2018

हाईलाइट

  • 1999 में तारिक अनवर ने छोड़ा था कांग्रेस पार्टी का साथ
  • तारिक अनवर, शरद पवार और पीए संगमा ने छोड़ी थी पार्टी
  • तीनों ने मिलकर बनाई थी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा उठाकर 1999 में कांग्रेस पार्टी छोड़ने वाले तारिक अनवर ने फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। शनिवार को दिल्ली में राहुल गांधी ने 20 साल पहले अपनी मां का विरोध करने वाले तारिक को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई। तारिक अनवर, शरद पवार और दिवंगत पीए संगमा ने एक साथ कांग्रेस छोड़कर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) बनाई थी। कुछ दिन पहले ही शरद पवार से नाराजगी के बाद अनवर ने NCP से इस्तीफा दे दिया था। आम चुनाव नजदीक होने के कारण कांग्रसे इस समय बिहार पर विशेष ध्यान दे रही है। ऐसे में तारिक अनवर के कांग्रेस में शामिल होने से पार्टी को काफी फायदा मिल सकता है।


बता दें कि एनसीपी से इस्तीफा देने के बाद तारिक अनवर ने कहा था कि मैं कांग्रेस पार्टी में रह चुका हूं। आज मुझे मेरी गलती को एहसास हुआ। सोनिया गांधी का विदेशी मूल का मुद्दा उठाना गलत था। यह मुद्दा 2004 में ही समाप्त हो चुका है। इससे पहले बिहार के कटिहार से सांसद तारिक अनवर ने NCP सुप्रीमो शरद पवार द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित बचाव पर नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा था कि राफेल पर पवार का जो बयान आया उससे लगा कि उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री को क्लीनचिट दे दी है। उनके बयान से जितने आरोप हैं वो बेकार हो जाते हैं। पार्टी अध्यक्ष द्वारा इस तरह का बयान दिया गया तो मुझे लगा कि मुझे पार्टी से अलग हो जाना चाहिए।

 

व्यक्तिगत तौर पर शरद से कोई दिक्कत नहीं 
NCP के महासचिव रह चुके तारिक अनवर ने कहा था कि एनसीपी की स्थापना में हमारा योगदान रहा है। मैं शरद पवार का सम्मान करता हूं। उन्होंने भी इसकी कद्र की है। मुझे व्यक्तिगत तौर पर कोई दिक्कत नहीं है। शरद पवार के साथ एकजुटता के साथ काम कर रहे थे, लेकिन राफेल को लेकर शरद पवार को ऐसा बयान नहीं देना था। उन्होंने कहा था कि बीजेपी ने तुरंत पवार के बयान के सहारे राफेल को लेकर खुद का बचाव किया।

 

 

खबरें और भी हैं...