comScore

विरोध : पॉन्डिचेरी से ऑक्सफोर्ड तक, JNU में हिंसा के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन

विरोध : पॉन्डिचेरी से ऑक्सफोर्ड तक, JNU में हिंसा के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन

हाईलाइट

  • JNU हिंसा मामले को लेकर देश-विदेश की यूनिवर्सिटियों में प्रदर्शन
  • बॉलीवुड से जुड़े लोग प्रदर्शन में हुए शामिल
  • कोलकाता में छात्रों-पुलिसकर्मियों के बीच प्रदर्शन के दौरान झड़प

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में रविवार को हुई हिंसा के मामले को लेकर पॉन्डिचेरी यूनिवर्सिटी से लेकर लंदन की ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी तक विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। सोमवार को छात्रों ने सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे हैशटैग 'SOSJNU' के साथ जेएनयू कैंपस में हिंसा के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए शांतिपूर्ण मार्च निकाला।

बॉलीवुड से जुड़े लोग प्रदर्शन में हुए शामिल
मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर भी प्रदर्शनकारी जुटे। हुतात्मा चौक से गेटवे तक मार्च निकाला गया। इसमें आईआईटी बॉम्बे के अलावा कई दूसरे शैक्षणिक संस्थानों के छात्र शामिल हुए। इसमें बॉलीवुड से जुड़े लोग और भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी पहुंचे। दीया मिर्ज़ा, ज़ोया अख्तर, रीमा कागड़ी, राहुल बोस और स्टैंड-अप कॉमेडियन कुमाल कामरा प्रदर्शन में शामिल हुए। प्रदर्शन के चलते गेटवे ऑफ इंडिया का पूरे रास्ता ब्लॉक हो गया। मुंबई पुलिस के अतिरिक्त जवानों को भी बुलाया गया।

प्रदर्शन में फ्री कश्मीर के दिखे पोस्टर
गेटवे ऑफ इंडिया का यह प्रदर्शन तो जेएनयू हिंसा के विरोध में था, लेकिन इस दौरान फ्री कश्मीर लिखे पोस्टर भी देखे गए। न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से जारी एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे एक महिला पोस्टर में लिखे फ्री कश्मीर को लेकर खड़ी है। इस दौरान 'बैन एबीवीपी' के पोस्टर भी देखे गए। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले को लेकर कहा कि ये प्रदर्शन किस लिए है। फ्री कश्मीर के पोस्टर क्यों हैं? हम मुंबई में ऐसे अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं।

कोलकाता में छात्रों-पुलिसकर्मियों के बीच झड़प
कोलकाता में जेएनयू हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान सुलेखा मोड़ पर पुलिसकर्मियों और जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्रों के बीच झड़प हो गई। इसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। अधिकारियों ने कहा कि जेएनयू में हुई हिंसा को लेकर जादवपुर इलाके में लेफ्ट और बीजेपी के समर्थक आमने सामने आ गए। एसएफआई और अन्य वामपंथी संगठनों के अलावा बीजेपी ने भी हिंसा के खिलाफ रैली निकाली। सुलेखा मोड़ पर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए जिसकी वजह से पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

भारत में इन जगहों पर प्रदर्शन
भारत में, पांडिचेरी यूनिवर्सिटी, बैंगलोर यूनिवर्सिटी, हैदराबाद यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, मुंबई यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, अंबेडकर यूनिवर्सिटी, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, पुणे में सावित्री बाई फुले यूनिवर्सिटी, TISS मुंबई, जादवपुर यूनिवर्सिटी, प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी, कोलकाता और IIT बॉम्बे में विरोध प्रदर्शन किए गए।

विदेशों में इन जगहों पर प्रदर्शन
ब्रिटेन में की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, कोलंबिया यूनिवर्सिटी और ससेक्स यूनिवर्सिटी के छात्रों ने कैंपस में सुरक्षा की मांग करते हुए पोस्टर पकड़े हुए मौन मार्च निकाला। जबकि नेपाल में जेएनयू के पूर्व छात्र कैंपस में हिंसा के विरोध में काठमांडू के मैतीघर मंडला में एकत्र हुए।

कमेंट करें
1atWX