दैनिक भास्कर हिंदी: डेरा पर फैसला : पंजाब-हरियाणा में 72 घंटों के लिए इंटरनेट बंद, HC सख्त

August 25th, 2017

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। बलात्कार के मामले में आरोपी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी। पंचकूला और उसके आसपास डेरा सपोटर्स इकठ्ठा होने शुरु हो गए हैं। पुलिस को आशंका है कि अगर फैसला राम रहीम के पक्ष में नहीं आता है तो फिर डेरा समर्थक हंगामा और हिंसा कर सकते हैं। चंडीगढ़ के पंचकूला में हजारों डेरा समर्थकों के जमाव को लेकर पंजाब और हरियाणा की हाईकोर्ट ने गुरुवार को नाराजगी जताई है। कोर्ट ने हरियाणा सरकार से कहा कि अगर सुरक्षा में कोई भी चूक हुई तो वह हरियाणा के डीजीपी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश देगी। इसी के साथ कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के मामले में कानून-व्यवस्था की स्थिति को बरकरार रखने के लिए केंद्र सरकार को फौरन अतिरिक्त बल उपलब्ध कराने को भी कहा। कोर्ट ने ये आदेश पंचकूला के एक व्यक्ति के पीआईएल की सुनवाई करते हुए दिया, जिसमें करीब 1.5 लाख डेरा समर्थकों के जमावड़े को देखते हुए राज्य में कानू-वयवस्था को लेकर चिंता जताई गई थी। याचिकाकर्ता का कहना था कि धारा 144 लगाने के बाद भी इतनी बड़ी संख्या में डेरा समर्थक कैसे जमा हुए।

चीफ जस्टिस एस सिंह सैरों और जस्टिस अवनीश झिंगन ने कहा कि कोर्ट नहीं चाहता कि एक बार फिर पिछली फरवरी जैसे हालत हो, जब जाट आंदोलन के चलते हरियाणा में 30 लोगों की मौत हो गई थी और हजारों करोड़ रुपए की संपत्ति को नुकसान पहुंचा था। बेंच ने एडीशनल सॉलिसिटर जनरल सत्यपाल जैन से उन कदमों की जानकारी मांगी है, जो केंद्र सरकार पंजाब और हरियाणा के हालात को देखते हुए उठाने जा रही है। कोर्ट ने हैरत जताते हुए कहा कि हजारों की तादाद में डेरा समर्थक पंचकूला में कैसे इकट्ठा हुए, उन्हें इसकी अनुमति कैसे दी गई और कहा कि मौजूदा हालात में वह चुप नहीं बैठ सकती।

अब तक पंचकूला में 1.5 लाख से ज्यादा डेरा सपोटर्स आ चुके हैं और 25 अगस्त तक इनकी संख्या और बढ़ने की आशंका है। इसके चलते हरियाणा और चंडीगढ़ में 24 और 25 अगस्त को सभी स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी कर दी गई है। हिंसक घटनाओं की आशंका को देखते हुए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में 72 घंटे के लिए इंटरनेट और मोबाइल सर्विस को बंद कर दिया गया है। क्योंकि सरकार को इस बात की पूरी उम्मीद है कि सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए अफवाह फैलाई जा सकती है जिससे हालात खराब हो सकते हैं। उधर, राम रहीम ने एक ट्वीट कर पुष्टि की है कि वो शुक्रवार को कोर्ट में रेप केस पर होने वाली सुनवाई के लिए मौजूद रहेंगे, साथ ही कहा कि उन्होंने हमेशा कानून का पालन किया है।

हरियाणा में चप्पे-चप्पे पर सिक्योरिटी फोर्स तैनात

प्रशासन को इस बात की पूरी आशंका है कि अगर फैसला राम रहीम के खिलाफ आता है तो उसके सपोटर्स भारी हंगामा कर सकते हैं। पंचकूला में डेरा के कई सपोटर्स भी इस बात को कह चुके हैं। इसको ध्यान में रखते हुए हरियाणा के सभी जिलों में धारा-144 लागू कर दी गई है और पूरे स्टेट के चप्पे-चप्पे पर सिक्योरिटी फोर्सेस तैनात कर दी गई है। अब तक प्रदेश में 2500 पुलिसकर्मी सहित पैरा-मिलिट्री फोर्स की 8 कंपनियां तैनात कर दी गई हैं और केंद्र से और कंपनियां भेजने की मांग की गई है। इसके अलावा भीड़ को देखते हुए राज्य में 2000 से ज्यादा होमगार्ड्स के जवान भी बुलाए गए हैं। डेरा सपोटर्स फुटपाथ और सड़क के बीच बने डिवाइडर पर बैठे हुए हैं। इसको देखते हुए पंचकूला आने-जाने वाली सभी बसों पर सरकार ने रोक लगा दी है।

पंजाब में भी सरकार अलर्ट पर

राम रहीम पर फैसले को देखते हुए पंजाब की सरकार भी अलर्ट पर है। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपना हेलिकॉप्टर डीजीपी सुरेश अरोड़ा को दे दिया है, ताकि वो राज्य का हवाई दौरा कर हालात पर नजर बनाए रखें। इसके साथ ही सरकार ने 25 अगस्त के बाद 10 दिन तक पूरे राज्य में सिक्योरिटी फोर्सेस के तैनात रहने के आदेश भी दिए हैं।

हरियाणा के सीएम ने लिया जायजा

राज्य में हिंसा की बढ़ती आशंका को देखते हुए सीएम मनोहर लाल खट्टर ने चीफ सेक्रेटरी, होम सेक्रेटरी और डीजीपी के साथ मीटिंग के साथ ही सीएम ने केंद्र सरकार से पैरामिलिट्री फोर्स की और कंपनियां भेजने के लिए बात करने को कहा है। इसके साथ ही सरकार ने पंचकूला और आसपास के इलाकों में डेरा सपोटर्स की बढ़ती संख्या को देखते हुए यहां आने-जाने वाली बसों को फिलहाल रोक दिया है।