दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र के स्कूलों में भी शुरू हो सकती है हैप्पीनेस क्लास

February 22nd, 2020

हाईलाइट

  • महाराष्ट्र के स्कूलों में भी शुरू हो सकती है हैप्पीनेस क्लास

नई दिल्ली, 22 फरवरी (आईएएनएस)। मेघालय के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने दिल्ली शिक्षा मॉडल में दिलचस्पी दिखाई है। महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने दिल्ली के शिक्षा मॉडल की जानकारी हासिल करने के लिए यहां शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री ने हैप्पीनेस क्लास और दिल्ली के सरकारी स्कूलों की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली।

दिल्ली और महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्रियों की मुलाकात पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली सरकार की ओर से महाराष्ट्र सरकार को पूरी मदद मुहैया करवाई जाएगी। महाराष्ट्र सरकार अपने राज्य में शिक्षा सुधार लागू करने को लेकर जो मदद चाहेगी, दिल्ली सरकार की ओर से सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे। दोनों राज्य एक दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं।

महाराष्ट्र के उच्च शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने दिल्ली के शिक्षा मंत्री से मुलाकात के बाद कहा, अब हम अधिकारियों की पूरी टीम के साथ दिल्ली आएंगे और दिल्ली के शिक्षा मॉडल को देखेंगे। हैप्पीनेस क्लास के बारे में भी देखेंगे कि इसे महाराष्ट्र में कैसे लागू किया जा सकता है। दोनों सरकारें अपने यहां एक दूसरे की अच्छी बातों को लागू कर सकती हैं।

महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की गठबंधन सरकार है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने दिल्ली दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से दिल्ली में मुलाकात की है। उद्धव ठाकरे के साथ ही महराष्ट्र के शिक्षा मंत्री उदय सामंत भी दिल्ली आए और यहां शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात की।

आम आदमी पार्टी की केजरीवाल सरकार दिल्ली में एक और नया कदम उठाने जा रही है। इसके तहत अब विभिन्न रिहायशी कालोनियों में महिला सुरक्षा के लिए मार्शल तैनात किए जा सकते हैं। दिल्ली सरकार में राजेंद्र पाल गौतम ने इसकी पुष्टी की है। साथ ही उन्होंने इस विषय पर चर्चा के लिए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल से मुलाकात भी की।

दिल्ली सरकार में महिला व बाल विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा, हमारे गारंटी कार्ड में महिला सुरक्षा शीर्ष प्राथमिकता है। आने वाले महीनों में मोहल्ला में मार्शल तैयार करने और महिला पंचायत को मजबूत करने पर काम होगा। मोहल्ला मार्शलों की तैनाती महिला सुरक्षा को लेकर क्रांतिकारी कदम होगा।