comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मुंबई में मुसीबत की बारिश, सड़क, रेल और हवाई सेवा ठप

July 11th, 2018 09:06 IST

हाईलाइट

  • मुंबई में बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त
  • सड़क, रेल और हवाई सेवाएं प्रभावित
  • मुंबई के ज्यादातर क्षेत्र में बाढ़ जैसी स्थिति

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मूसलाधार बारिश ने मायानगरी मुंबई की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है। मुबंईवासियों का जीवन पूरी तरह थम गया है। बीते कई दिनों से हो रही बारिश मुंबई के लिए अब मुसीबत बन चुकी है। सड़कों पर पानी भर जाने से बस, ट्रेन और हवाई सेवा प्रभावित हुई है। दुकानों में पानी भर जाने के कारण ज्यादातर मार्केट बंद है। रेलवे की पटरियों पर पानी भर जाने से रेल व्यवस्था भी ठप हो गई है। मंगलवार को भी मुंबई और आस-पास के इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी है। भारी बारिश के चलते ज्यादातर प्राइवेट स्कूल-कॉलेज भी बंद कर दिए गए हैं। हालांकि शिक्षा मंत्री ने स्कूल खुले रखने के आदेश दिए है।

तेज बारिश के चलते जहां मुंबई की लाइफलाइन मानी जानेवाली मुंबई लोकल ट्रेनों का संचालन लगभग ठप हो गया है। वहीं वडोदरा एक्सप्रेस (12928) विरार और नालासोपारा के बीच फंस गई है। यहां यात्रियों को बचाने के लिए NDRF की टीम भेजी गई थी। टीम ने करीब 1500 यात्रियों को सुरक्षित ट्रेन से निकाल लिया है।


उधर, पालघर में भी बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। यहां वसाई मिथानगर में NDRF की टीम ने 97 लोगों का रेस्क्यू किया है। 
 

बारिश के कारण बोरीवली, परेल, धारावी, माटुंगा, किंग सर्किल, दिवा, डोम्बिवली, कल्याण समेत कई क्षेत्रो में बाढ़ जैसी स्थिति है। मौसम विभाग ने महानगर और पड़ोसी ठाणे, पालघर और रायगढ़ जिलों में सोमवार को दोपहर बाद भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी। मौसम विभाग का कहना है कि अगले 4 दिनों तक मुंबई, कोंकण क्षेत्र में मूसलाधार बारिश से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

बारिश की वजह से करीब 90 ट्रेनों रद्द कर दी गई हैं। अभी भी कुछ ट्रेन करीब 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं। मंगलवार को वेस्टर्न रेलवे के डिविजनल रेलवे मैनेजर ने बताया कि भारी बारिश की वजह से नाला सोपारा में दोनों ओर से ट्रेनों की आवाजागी रोक दी गई है। हालांकि, लोकल ट्रेन विरार से चर्चगेट तक 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं। इसके अलावा जिला सूचना अधिकारी ने बताया कि पालघर जिले के वसई में जलभराव के कारण करीब 300 लोग अपने घरों में फंस गए। हालांकि यहां के लोगों ने जिला प्रशासन के इस जगह को खाली करने की अपील मानने से इनकार कर दिया।
 

मुंबई में रात भर रुक-रुक कर बारिश होती रही, जो अब भी जारी है। रात में ही सायन, वडाला, चेंबूर जैसे निचले इलाकों से पानी निकाल लिया गया था। हालांकि मुंबई वासियों को बारिश और जलभराव से ज़्यादा समय तक राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। विभाग के मुताबिक कोंकण क्षेत्र में मूसलाधार बारिश से जारी रहेगी। सोमवार सुबह 8.30 बजे तक 24 घंटो में कोलाबा में 170.6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई जो इस सीजन में सबसे अधिक है। 

बारिश से डिब्बा सेवा बंद 
मुंबई में लगातार हो रही बारिश का असर डिब्बेवालों की सेवाओं पर पड़ा है। पश्चिम रेलवे की लोकल ट्रेन सेवा बाधित होने और सड़कों पर जगह- जगह पानी भरने के कारण मुंबई के डिब्बेवालों ने मंगलवार को सेवा बंद रखने का फैसला किया है। मुंबई डिब्बावाला एसोसिएशन के प्रवक्ता सुभाष तलेकर ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लोकल ट्रेनों की सेवाएं प्रभावित हैं। इसके अलावा महानगर की कई सड़कों पर पानी भरा होने के कारण डिब्बावालों को साइकिल और हाथगाड़ी चलाने में मुश्किल होगी। इस कारण डिब्बावालों को सुबह सात बजे घरों से भोजन का डिब्बा नहीं लेनी की सूचना दी गई है। भारी बरसात के कारण जुलाई महीने में दूसरी बार डिब्बावालों की सेवा प्रभावित हुई है। मुंबई के डिब्बावालों ने 3 जुलाई को भी सेवा बंद की थी।

Image result for डब्बावाला मुंबई

बोरीवली में गिरे 3 मकान
बोरीवली में भारी बारिश की वजह से तीन घर पूरी तरह धाराशायी हो गए, ये हादसा कल रात करीब 10 बजे हुआ मौके पर दमकल और एनडीआरएफ टीमें तत्काल तैनात कर दी गई थी। देर रात तक मलबा हटाने का काम जारी रहा। गनीमत है कि हादसे में किसी भी तरह की जनहानि नहीं हुई है। बोरिवली इलाके में एक बिल्डिंग में दरार आने की सूचना मिली थी। जिसके बाद पूरी बिल्डिंग को एहतियात बरतते हुए खाली करवा दिया गया है। 

Image result for मुंबई में तीन मकान गिरे

लेक हुई ओवरफ्लो
लगातार हो रही भारी बारिश के कारण मुंबई में जन-जीवन खासा प्रभावित हो रहा है। मुंबई की ज्यादातर सड़कें जल मग्न हैं। लगातार हो रही बारिश की वजह से मुंबई को पानी सप्लाई करने वाली तुलसी और पवई लेक ओवरफ्लो हो गई है।

Image result for तुलसी लेक मुंबई

कई रिहायशी इलाकों में पानी भरा
बारिश के कारण वडाला सहित कई रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है। वहीं वडाला स्टेशन पर रेल पटरियां भी पानी में डूब गयी। मुंबई के कई इलाकों में आज भी तेज़ बारिश का अनुमान है। सांताक्रूज इलाके में भी बाढ़ जैसे हालात बने हुए है। सांताक्रूज वीआईपी इलाका है यहां कई बड़ी हस्तियों के घर भी है। मौसम विभाग के अनुसार इस मौसम में 24 घंटे में हुई यह सर्वाधिक बारिश है। उपनगर सांताक्रूज में 122 मिमी बारिश दर्ज की गयी है।


 

कमेंट करें
jiegn
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।