दैनिक भास्कर हिंदी: मिग-21 में सवार अभिनंदन ने ही गिराया था पाकिस्तानी F-16 फाइटर जेट- भारतीय एयरफोर्स

March 7th, 2019

हाईलाइट

  • एयरफोर्स ने कहा कि मिग-21 बाइसन ने ही F-16 को गिराया था।
  • सोशल मीडिया साइट्स पर काफी गलत जानकारियां भी फैलाई जा रही हैं।
  • भारतीय एयरफोर्स ने बुधवार को लोगों को इन गलत जानकारियों से सावधान रहने के लिए कहा है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपनी बहादुरी से पाकिस्तान के फाइटेर जेट F-16 को मार गिराने वाले मिग-21 बाइसन के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को पूरी दुनिया सलाम कर रही है। हालांकि मिग-21 और पाक विमान की भिड़ंत को लेकर सोशल मीडिया साइट्स पर काफी गलत जानकारियां भी फैलाई जा रही हैं। भारतीय एयरफोर्स ने बुधवार को लोगों को इन गलत जानकारियों से सावधान रहने के लिए कहा है। एयरफोर्स ने कहा कि मिग-21 बाइसन ने ही F-16 को गिराया था। 

 

 

भारतीय एयरफोर्स ने कहा, 'मिग-21 बाइसन ने ही पाकिस्तानी फाइटर जेट F-16 को गिराया था। हालांकि इसको लेकर सोशल मीडिया साइट पर झूठ फैलाया जा रहा है। जबकि हमने 28 फरवरी 2019 को प्रेस स्टेटमेंट में स्पष्ट किया था कि पाकिस्तानी F-16 को हमार विमान ने मार गिराया था। मिग-21 ने ही F-16 पर मिसाइल दागी थी। F-16 पर आर-73 मिसाइल दागने से पहले खुद अभिनंदन ने रेडियो ट्रांसमिशन के जरिए भारतीय एयरफोर्स को इसकी कन्फर्मेशन दी थी। ब्लास्ट होने के बाद पाकिस्तानी फाइटर जेट LOC के उस पार गिर गया था।'

इसके अलावा भारतीय एयरफोर्स ने अभिनंदन के नाम पर बनाए जा रहे फेक सोशल मीडिया अकाउंट से भी लोगों को सावधान रहने को कहा है। भारतीय एयरफोर्स ने कहा, पिछले एक हफ्ते में विंग कमांडर अभिनंदन के कई फर्जी अकाउंट बनाए गए हैं। IAF इस बात की पुष्टि करता है कि अभिनंदन का ट्विटर और इंस्टाग्राम पर कोई आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट नहीं है। हम लोगों को बताना चाहते हैं कि इस तरह के अकाउंट से खुद को दूर रखें, क्योंकि इसमें कुछ गलत हो सकता है।

 

 

बता दें कि पुलवामा में CRPF जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पाक स्थित जैश के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की थी। इस हमले के बाद पाकिस्तानी जेट F-16 ने भी भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय पायलट अभिनंदन वर्थामन ने मार गिराया था। वह MIG-21 फाइटर जेट पर सवार थे। इस संघर्ष के दौरान अभिनंदन का प्लेन पीओके में गिर गया था। इसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें बंदी बना लिया था। पाक ने शुक्रवार, 1 मार्च को रात 9:21 बजे अटारी बॉर्डर के रास्ते से अभिनंदन को भारत को सौंप दिया था।