comScore

India-China Tension: चीन को मिलेगा करारा जवाब, भारत ने LAC पर तैनात की ब्रह्मोस, निर्भय और आकाश मिसाइलें

India-China Tension: चीन को मिलेगा करारा जवाब, भारत ने LAC पर तैनात की ब्रह्मोस, निर्भय और आकाश मिसाइलें

हाईलाइट

  • भारत ने ब्रह्मोस, निर्भय क्रूज मिसाइल और आकाश मिसाइल को तैनात किया है
  • ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल की रेंज 500 किमी है
  • निर्भय क्रूज मिसाइलों की रेंज 800 किमी के करीब हैं

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत ने ब्रह्मोस, निर्भय क्रूज मिसाइल और जमीन से हवा में मार करने वाली आकाश मिसाइल को तैनात किया है।  ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल की रेंज 500 किमी और निर्भय क्रूज मिसाइलों की रेंज 800 किमी के करीब हैं। आकाश मिसाइल 40 किलोमीटिर दूर हवाई खतरों को निशाना बनाने की क्षमता रखती है।  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सेना ने भी तिब्बत और शिनजियांग में 2,000 किलोमीटर की रेंज तक और लंबी दूरी तक मार करने वाले हथियार तैनात किए हैं।

ब्रह्मोस
ब्रह्मोस एयर-टू-एयर और एयर-टू-सर्फेस क्रूज मिसाइल में 300 किलोग्राम का वॉरहेड है। इसमें SU-30 MKI लड़ाकू से स्टैंड-ऑफ हथियार पहुंचाने का विकल्प भी है। इसके अलावा, ब्रह्मोस का उपयोग भारत के द्वीप क्षेत्रों में कार निकोबार एयर बेस का इस्तेमाल करके हिंद महासागर में चोक प्वाइंट बनाने के लिए भी किया जा सकता है। भारतीय वायुसेना का कार निकोबार एयर बेस SU-30 MKI के लिए एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड है। यह इंडोनेशिया में मलक्का के स्ट्रेट से सुंडा स्टाटन तक आने वाले किसी भी पीएलए युद्धपोत के खतरे से सुरक्षा प्रदान करता है।

India's New 600 Km Range Brahmos Missile Can Spread Panic In Entire

निर्भय मिसाइल
भारत ने सबसोनिक निर्भय मसाइल को सीमित संख्या में तैनात किया गया है। स्टैंड-ऑफ वेपन सिस्टम की 1000 किलोमीटर तक की रेंज है। इसमें समुद्री स्किमिंग और लोइटरिंग क्षमता दोनों हैं। इसका मतलब है कि यह मिसाइल जमीन से 100 मीटर से चार किमी के बीच उड़ान भरने में सक्षम है। यह टारगेट को एंगेज करने से पहले उसे पिक करने में सक्षण है। निर्भय मिसाइल सिर्फ जमीन से जमीन पर ही मार कर सकती है।

India Successfully Test-fires N-capable Cruise Missile Nirbhay | Business Insider India

आकाश मिसाइल
भारतीय सेना की ओर से तैनात किया गया तीसरा वेपन आकाश SAM है। इसे लद्दाख सेक्टर में LAC के पार से किसी भी PLA विमान की घुसपैठ का मुकाबला करने के लिए पर्याप्त संख्या में तैनात किया गया है। अपने थ्री डाइमेंशनल राजेंद्र और इलेक्ट्रॉनिक स्कैनर वाले रडार की मदद से आकाश मिसाइल, एक समय में 64 लक्ष्यों को ट्रैक कर सकती है। साथ ही उनमें से 12 को एक साथ एंगेज की क्षमता आकाश मिसाइल रखती है। आकाश मिसाइल 40 किलोमीटिर दूर हवाई खतरों को निशाना बनाने की क्षमता रखती है।

Akash missile ready for induction into Army: DRDO | India News – India TV

कमेंट करें
6eqCh