comScore

Coronavirus: भारत ने चीनी नागरिकों, वहां रहने वाले विदेशियों के लिए ई-वीजा सुविधा को किया सस्पेंड

Coronavirus: भारत ने चीनी नागरिकों, वहां रहने वाले विदेशियों के लिए ई-वीजा सुविधा को किया सस्पेंड

हाईलाइट

  • भारत ने रविवार को चीनी नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा को किया सस्पेंड
  • चीन में रहने वाले विदेशियों के लिए भी ई-वीजा अस्थाई रूप से सस्पेंड रहेगी
  • कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए भारत ने यह कदम उठाया है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत ने रविवार को चीनी नागरिकों और चीन में रहने वाले विदेशियों के लिए ई-वीजा सुविधा को अस्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया है। कोरोनावायरस को बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भारत ने ये कदम उठाया है। बता दें कि कोरोनावायरस से अब तक 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है जबकि दुनियाभर में 14 हजार से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हो गए हैं। चीन का यह वायरस भारत, अमेरिका और ब्रिटेन सहित 25 देशों में फैल गया है।

भारतीय दूतावास की ओर से कहा गया है कि मौजूदा घटनाक्रमों को देखते हुए ई-वीजा पर भारत की यात्रा को अस्थायी रूप से बंद किया जा रहा है। यह चीनी पासपोर्ट के धारकों और चीन के पीपुल्स रिपब्लिक में रहने वाले अन्य राष्ट्रीयताओं के आवेदकों पर लागू होता है। घोषणा में कहा गया है कि पहले से जारी किए गए ई-वीजा अब मान्य नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'भारत आने वाले सभी लोग बीजिंग में भारत के दूतावास या शंघाई या ग्वांगझू में भारतीय वाणिज्य दूतावास और साथ ही इन शहरों में भारतीय वीजा आवेदन केंद्रों से संपर्क कर सकते हैं।'

भारत में कोरोनावायरस का दूसरा केस
बता दें कि केरल में रविवार को कोरोनावायरस का दूसरा केस सामने आया है। वायरस से संक्रमित मरीज चीन के वुहान से 24 जनवरी को भारत लौटा था। वुहान से लौटने के बाद से ही मरीज को मॉनिटरिंग के लिए आइसोलेशन में रखा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में इस बात की जानकारी दी। बता दें कि तीन दिन पहले भी केरल के त्रिशूर में कोरोनावायरस का एक मामला सामने आया था। चीन से बाहर कोरोनावायरस से मौत का पहला मामला भी शनिवार को रिपोर्ट किया गया है।

70 लोग अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड में
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि करोनावायरस से संक्रमित पाया गया नया मरीज वुहान में छात्र है जिसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, 'पूरे केरल में कम से कम 1,793 लोग निगरानी में हैं और 70 को अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।' एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, केरल के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा, 'इन्क्यूबेशन पीरियड गुजरने तक हम बहुत सतर्क हैं। सबसे अच्छा उपचार आइसोलेशन में होना और बहुत आराम करना है।

कमेंट करें
SfFRX