दैनिक भास्कर हिंदी: भारत ने रद्द की पाक विदेश मंत्री से मुलाकात, कहा- इमरान का असली चेहरा आया सामने

September 22nd, 2018

हाईलाइट

  • भारत-पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच होने वाली मुलाकात रद्द कर दी गई है।
  • भारत की ओर से इस मुलाकात के रद्द करने की वजह जवानों की नृशंस हत्या और पाक की ओर से जारी 20 डाक टिकट है।
  • इन डाक टिकटों में आतंकियों का महिमामंडन किया गया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत-पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की बीच होने वाली मुलाकात रद्द कर दी गई है। भारत की ओर से इस मुलाकात के रद्द करने की वजह जवानों की नृशंस हत्या और पाकिस्तान की ओर से जारी किए गए 20 डाक टिकट है। इन टिकटों में आतंकियों का महिमामंडन किया गया है। बता दें कि भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बीच न्यूयॉर्क में बैठक होने वाली थी।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि “कल हमने घोषणा की थी कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री न्यूयॉर्क में मुलाकात करेंगे। उसके बाद दो घटनाएं हुईं एक तो हमारे जवानों की दर्दनाक हत्याएं की गई। दूसरी पाकिस्तान ने आतंकियों के स्टाम्प टिकट जारी किए।" उन्होंने कहा हमने वार्ता के लिए इसलिए हामी भरी थी क्योंकि पाक प्रधानमंत्री ने शांति के पक्ष में भारत को चिट्ठी लिखी थी। लेकिन पाकिस्तान की नई शुरुआत के पीछे और बातचीत के प्रस्ताव के पीछे नापाक इरादे हैं जिनका खुलासा हो चुका है। पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के शुरुआती कार्यकाल में ही उनकी नीयत सामने आ गई है। इमरान खान का असली चेहरा दुनिया के सामने आया है।

बता दें कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने पीएम मोदी को पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बीच मीटिंग कराने का जिक्र किया था। उन्होंने लिखा, 'मैं भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा मुझे भेजे गए शुभकामना संदेश के लिए आभार व्यक्त करता हूं। मैं उन्हें यह बताना चाहता हूं कि पाकिस्तान आतंकवाद पर बात करने के लिए तैयार है। हम शांति और सुरक्षा, सीबीएम, जम्मू-कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक, वुलर बैराज/तुलबुल नेविगेशन प्रॉजेक्ट जैसे मुद्दों पर चर्चा करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।'

जिसके बाद भारत ने पाकिस्तान के आग्रह पर विदेश मंत्रियों के बीच बैठक को मंजूरी दे दी थी। हालांकि बैठक की तारीख और समय पर फैसला नहीं लिया गया था। बस इतना कहा गया था कि यह बैठक न्यूयॉर्क में होने वाले यूनाइटेड नेशन जेनरल असेंबली (UNGA) से पहले या बाद में आयोजित की जाएगी। सुषमा स्वराज 24 सितंबर को न्यूयॉर्क रवाना हो रही हैं। वह और कुरैशी दोनों UNGA में अपने-अपने देशों का प्रतिनिधित्व करेंगे। इसके बाद 27 सितंबर को दोनों देशों के विदेश मंत्री सार्क विदेश मंत्रियों के साथ लंच के दौरान मिलेंगे।  

खबरें और भी हैं...