दैनिक भास्कर हिंदी: केंद्रीय ​अश्विनी चौबे पर युवक ने फेंकी स्याही, पटना में जलजमाव से था नाराज

October 15th, 2019

हाईलाइट

  • डेंगू के मरीजों से मिलने पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंचे थे मंत्री
  • सुरक्षाकर्मियों की मौजूदगी में हॉस्पिटल के गेट पर युवक ने फेंकी स्याही
  • मंत्री की सुरक्षा व्यवस्था पर उठ रहे सवाल, युवक ने कहा अफसोस नहीं

डिजिटल डेस्क, पटना। केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर एक अज्ञात युवक द्वारा स्याही फेंकने का मामला सामने आया है। घटना उस वक्त हुई जब केंद्रीय मंत्री पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (पीएमसीएच) में डेंगू के मरीजों से मिलने पहुंचे। चौबे जब मरीजों से मिलकर पीएमसीएच से बाहर निकले तो गेट के पास ही एक युवक ने मंत्री के चेहरे पर नीली स्याही फेंक दी। मंत्री और सुरक्षाकर्मी कुछ समझ पाते युवक भाग निकला। सुरक्षाकर्मी उसका पीछा करते रहे, लेकिन युवक उनकी पहुंच से निकल गया। स्याही के छींटे मंत्री के चेहरे, कपड़े और गाड़ी पर भी पड़े। इस दौरान वहां मीडियाकर्मी भी मौजूद थे।

घटना के बाद वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने अश्विनी चौबे को घेर लिया। इस दौरान मंत्री ने घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि ये उन लोगों का काम है जो गंंदा काम करते हैं, अपराध करते हैं और बड़े नेता बनने की ख्वाहिश रखते हैं। उनके ही इशारों पर ये सब होता है। पता नहीं, उन्हें इससे क्या हासिल होगा? अश्विनी चौबे का इशारा जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव की तरफ था।

मैंने सही किया किया मुझे कोई अफसोस नहीं  
मंत्री अश्विनी चौबे पर स्याही फेंकने वाले युवक ने अपना नाम निशांत झा बता रहा है और उसने एक न्यूज चैनल से बातचीत में बताया कि मैं जन अधिकार पार्टी का युवा प्रदेश का सचिव हूं और जलजमाव से लोगों की परेशानी देखकर मैं परेशान था। इसीलिए मैंने नाराजगी में आकर मंत्री पर स्याही फेंकी। ये मेरा अपना फैसला था और मैंने अपना विरोध जताया है, मैंने जो किया सही किया, इसका मुझे कोई अफसोस नहीं है। 

सुरक्षा व्यवस्था पर लग रहे प्रश्नचिन्ह
गौरतलब है कि पटना में जलजमाव को लेकर लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। लोग सरकार और मंत्रियों को इसके लिए जिम्मेदार मान रहे हैं। युवक ने इसी वजह से मंत्री पर स्याही फैंकने का कदम उठाया, लेकिन किसी केंद्रीय मंत्री के सुरक्षाकर्मियों के सामने एक युवक की ऐसी हरकत, सुरक्षा व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है।