comScore

भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, जाकिर मूसा का वारिस हामिद लोन ढेर


हाईलाइट

  • सुरक्षा बलों ने हामिद ललहारी उर्फ लोन को मार गिराया
  • जाकिर मूसा के बाद हामिद आतंकी संगठन अंसार गजवत-उल-हिंद' के प्रमुख बनाया गया था
  • एनकाउंटर में तीन आतंकी मारे गए

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। भारतीय सेना को एक बड़ी कामयाबी मिली है। सेना ने पुलवामा के राजपुरा में मुठभेड़ में अल कायदा से जुड़े आतंकी संगठन 'अंसार गजवत-उल-हिंद' के प्रमुख हामिद लल्हारी उर्फ हामिद लोन को मार गिराया है। इस मुठभेड़ में दो और आतंकी मारे गए हैं। जिनकी पहचान नावेद ताक और जुनैद भट के रूप में हुई है। आतंकियों के पास से काफी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने प्रेस वार्ता कर बताया कि लल्हारी 2016 में आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था। तब से वह लगातार सक्रिय था। ये आतंकी मासूमों को अपना निशाना बना रहे थे। लल्हारी के मारे जाने के बाद इस संगठन का खात्मा हो गया है। घाटी में शांति का माहौल है। उन्होंने कश्मीर के नौजवानों को सलाह देते हुए कहा कि हथियार से सिर्फ मौत मिलती है। आतंक नहीं अमन के रास्ते पर चलें। 

बता दें कि जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद हामिद को आतंकी संगठन 'अंसार गजवत-उल-हिंद' का प्रमुख बनाया गया था। यह संगठन अल कायदा से जुड़ा हुआ है। सुरक्षा एजेंसियां को हामिद की तलाश थी क्योंकि उसने सभी आंतकवादी संगठनो को एकजुट रहने को कहा था। सुरक्षाबलों ने 23 मई को दक्षिण कश्मीर के त्राल के एक गांव में मुठभेड़ में जाकिर मूसा को मार गिराया था। उसके मारे जाने के बाद कहा जा रहा कि अंसार गजवत-उल-हिंद का खात्मा हो गया है। इस संगठन में कुल 10 से 12 आतंकी थे। 

कमेंट करें
2xhCT