दैनिक भास्कर हिंदी: धारा 370 का सम्मान किया जाना चाहिए : महबूबा मुफ्ती

November 5th, 2017

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के विपरीत धारा 370 को बनाए रखने और उसका सम्मान करने की बात कही है। सीएम महबूबा ने कहा कि धारा 370 जम्मू-कश्मीर के लोगों के प्रति देश की प्रतिबद्धता है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए। महबूबा ने सोशल मीडिया ट्विटर पर ट्विट करते हुए धारा 370 को लेकर बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। बीजेपी धारा 370 को हटाकर कश्मीर समस्या हल करना चाहती है।

 

पीडीपी प्रमुख ने ट्वीट करते हुए कहा, 'कश्मीर मसले का एकमात्र हल बातचीत है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिन्हें भारी जनादेश प्राप्त है, वह जम्मू-कश्मीर की तस्वीर बदल एक नया इतिहास रच सकते हैं।' महबूबा का बयान ऐसे वक्त में आया है, जब 370 के साथ ही धारा 35ए को हटाने पर बहस चल रही है।

 

जम्मू-कश्मीर की सीएम ने कश्मीर समस्या के हल के लिए बातचीत को इकलौता विकल्प बताते हुए पीएम मोदी से भी अपील की है। इससे पहले बीजेपी ने राज्य से 370 हटाने को ही कश्मीर समस्या का इकलौता व्यावहारिक समाधान बताया था। धारा 370 राज्य को विशेष दर्जे की गारंटी देती है।

 

सीएम महबूबा मुफ्ती ने दूसरे ट्वीट में कहा, 'धारा 370 जम्मू-कश्मीर के लोगों के प्रति देश की प्रतिबद्धता है और इसलिए इसका सम्मान किया जाना चाहिए।' उनका यह बयान ऐसे समय में आया है, जब विशेष प्रावधान पर बहस चल रही है और इस धारा के साथ धारा 35ए को हटाने की मांग भी उठ रही है। यह प्रावधान जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासियों को विशेष अधिकार और सुविधाएं मुहैया कराता है।

 

महबूबा ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'लोकतंत्र विचारधाराओं की लड़ाई है और बातचीत ही एकमात्र हल है। मैंने भी आर्थिक गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए पारंपरिक मार्गों को फिर से खोलने की लड़ाई लड़ी है। देश को राज्य की भौगोलिक स्थिति का फायदा उठाना चाहिए और अधिक आर्थिक गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए पारंपरिक मार्गों को फिर से खोलना चाहिए।'

 

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी. चिदंबरम ने भी जम्मू-कश्मीर की स्वायत्तता की मांग को जायज ठहाराया था। इस बयान की तीखी आलोचना करते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के साथ अलग व्यवहार करना, उसे अपना संविधान बनाने की अनुमति देना और भारतीय संविधान में अनुच्छेद 370 शामिल करना जम्मू-कश्मीर की मौजूदा समस्या का मूल कारण है।

 

इससे पहले बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता वीरेंद्र गुप्ता ने कहा था कि अनुच्छेद 370 को हटाना और जम्मू-कश्मीर को अन्य राज्यों के बराबर लाना ही इस मुद्दे का एकमात्र व्यावहारिक हल है। गुप्ता ने कहा था कि यह अलगाववादियों और पाकिस्तान के लिए मुंहतोड़ जवाब होगा, जो राज्य में आतंकवाद का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे जम्मू-कश्मीर खासकर घाटी के लोगों को राष्ट्रीय मुख्यधारा में लाने का मार्ग प्रशस्त होगा।