comScore

अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर में पहली मुठभेड़, आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर में पहली मुठभेड़, आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

हाईलाइट

  • एनकाउंटर में एसपीओ बिलाल शहीद, उप-निरीक्षक अमरदीप परिहार घायल
  • मंगलवार रात से आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच जारी थी मुठभेड़

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला में मंगलवार रात से जारी मुठभेड़ बुधवार सुबह खत्म हो गई। इस दौरान सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया। आतंकवादियों से मुठभेड़ में राज्य पुलिस का एक एसपीओ भी शहीद हो गया, जबकि एक अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गया। राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद कश्मीर घाटी में यह पहली मुठभेड़ है।

मारे गए आतंकवादी की पहचान मोमिन गोजरी के रूप में की गई है। यह आतंकी बारामूला का ही रहने वाला था। वहीं पुलिस ने बताया, बिलाल नाम का एसपीओ शहीद हो गया है। घायल उप-निरीक्षक अमरदीप परिहार को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सुरक्षा बलों और हथियारबंद आतंकवादियों के बीच मंगलवार शाम शुरू हुई मुठभेड़ पूरी रात जारी थी। बुधवार तड़के 5.30 बजे जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने ट्वीट कर मुठभेड़ खत्म होने की जानकारी दी।

राज्य पुलिस ने ट्वीट किया, मुठभेड़ खत्म हो गई। एक आतंकवादी मारा गया, जिसकी पहचान की जा रही है। हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए हैं। हमारे साथी एसपीओ बिलाल शहीद हो गए। एसआई अमरदीप परिहार घायल हो गए और आर्मी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

मुठभेड़ में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच भारी गोलीबारी हुई। गोलीबारी बारामूला में मंगलवार शाम लगभग पांच बजे शुरू हुई और जनता के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी गई। बता दें कि, जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को केंद्र सरकार द्वारा पांच अगस्त को खत्म करने के बाद सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच पहली मुठभेड़ थी।

कमेंट करें
oW2nw