दैनिक भास्कर हिंदी: मॉब लिंचिंग पर जावेद अख्तर: गुलामी में भी किसी ने इस बेशर्मी को जायज नहीं ठहराया

July 25th, 2018

हाईलाइट

  • मॉब लिंचिंग के विरोध में सामने आया बॉलीवुड।
  • डायरेक्टर सुधीर मिश्रा और अभिनेत्री गौहर खान ने भी किया ट्वीट।
  • भीड़ की हिंसा को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: जावेद

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मॉब लिंचिंग (भीड़ की हिंसा) के दिन ब दिन बढ़ते मामलों पर बॉलीवुड ने भी कड़ी प्रतिक्रिया जतानी शुरू कर दी है। गीतकार जावेद अख्तर ने मॉब लिंचिंग पर कहा कि अमेरिका में कू क्लक्स क्लान (यूएसए में दक्षिणपंथी-कट्टरवादी गोपनीय समाज) और गुलामी के दिनों में दक्षिण अफ्रीका में गोरों के शासनकाल में भी किसी ने ऐसी बेशर्मी को जायज नहीं ठहराया। जावेद ने कहा कि भीड़ की हिंसा को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। जावेद ने कई दिनों से सामने आ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं के बाद ये ट्वीट किया है। पिछले हफ्ते राजस्थान के अलवर में गौ-रक्षकों की भीड़ ने गौ-तस्करी के शक में रकबर खान की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। पुलिस रकबर की मौत गंभीर चोट से होना बता रही है। चश्मदीदों का कहना है कि पुलिस की पिटाई में उसकी मौत हुई।

 

 

 

निर्देशक सुधीर मिश्रा ने मॉब लिंचिंग पर कहा कि हम अपने बच्चों को क्या बताएंगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मॉब लिंचिंग को जायज ठहराने वाले अपने बच्चों से क्या कहेंगे ?

 

 

 

अभिनेता और स्टैंडअप कॉमेडियन वीर दास ने ट्वीट किया "भीड़ द्वारा हत्या के शिकार लोगों को न्याय दिलाने के लिए कोई किसे गले लगाए?

 

 

 

 

 

चुप्पी साध लेते हैं नेता: गौहर खान
भीड़ द्वारा हत्या किए जाने पर अभिनेत्री गौहर खान ने ट्वीट किया, ‘हत्याओं के बारे में नेता बेहद हल्के बयान देते हैं, जैसे यह चेन छीनने की कोई घटना हो, देश के नेता इस पर चुप्पी साधे रहते हैं, लेकिन भीड़ द्वारा हत्या, असल में हत्या के लिए नया अनौपचारिक शब्द बन गया है।