comScore

पानी के रास्ते हमले की तैयारी में JeM के आतंकी, सेना अलर्ट पर


हाईलाइट

  • जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को अंडरवॉटर अटैक की ट्रेनिंग दी जा रही है
  • भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल ने खुफिया इनपुट के आधार पर ये दावा किया
  • इस इनपुट के बाद से सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पाकिस्तान की धरती पर पल रहे संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को अंडरवॉटर अटैक की ट्रेनिंग दी जा रही है। भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने सोमवार को खुफिया इनपुट के आधार पर ये दावा किया। हालांकि, सिंह ने कहा कि ऐसे किसी भी हमले से निपटने के लिए सेना पूरी तरह से तैयार है और उसे हाई अलर्ट पर रखा गया है।

एडमिरल सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि 'हमें एक खुफिया सूचना मिली है कि जैश-ए-मोहम्मद का एक अंडरवाटर विंग लोगों को पानी से हमले करने के लिए प्रशिक्षित कर रहा है। लेकिन हम पूरी तरह से तैयार हैं और कड़ी निगरानी रख रहे हैं। हम लोगों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि हम ऐसी किसी भी कोशिश को नाकाम कर देंगे।' 

एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा कि 2008 के 26/11 हमले के बाद, हमने तटीय सुरक्षा की स्थापना की। यह बहुत अच्छा कर रहा है। चूंकि नौसेना समुद्री सुरक्षा के साथ-साथ तटीय सुरक्षा, समुद्री पुलिस और अन्य हितधारकों के साथ समुद्री सुरक्षा के ओवर ऑल इंचार्ज है। हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि समुद्र से कोई घुसपैठ नहीं होगी।

नौसेना प्रमुख भारत के 17 वें प्रमुख सेनाध्यक्ष स्वर्गीय बीसी जोशी की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में लेक्चर देने के लिए पुणे में थे। सावित्रीबाई फुले युनिवर्सिटी की ओर से ये कार्यक्रम आयोजित किया गया था। उन्होंने अपने लेक्चर मे समुद्री सुरक्षा और उसके चैलेंज पर बात की।

बता दें कि कुछ दिन पहले लश्कर-ए-तैयबा के छह आतंकियों के श्रीलंका के रास्ते भारत के तमिलनाडु में घुसने की खबर भी आई थी। खुफिया विभाग की इस रिपोर्ट के बाद राज्य की सुरक्षा बढ़ा दी गई। पुलिस ने शुक्रवार को कहा था कि आतंकियों के समूह में शामिल पांच लोग श्रीलंका के हैं, वहीं उसमें से एक पाकिस्तानी नागरिक है।

कमेंट करें
fmqSv