दैनिक भास्कर हिंदी: कमलनाथ का पीएम मोदी पर तीखा प्रहार, कहा - इस्तीफा दें और घर बैठें

September 10th, 2018

हाईलाइट

  • कमलनाथ का पीएम मोदी पर तीखा प्रहार
  • कमलनाथ बोले इस्तीफा दें और घर बैठे
  • सोमवार को कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने किया भारत बंद का एलान

डिजिटल डेस्क, भोपाल। दिल्ली, मुंबई से लेकर भोपाल तक जनता लगातार बढ़ रही महंगाई से परेशाान है, इसकी मुख्य वजह पेट्रोल-डीजल के दामों में रोजाना हो रही बढ़ोतरी है। सोमवार को कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने महंगाई के विरोध में भारत बंद का आव्हान भी किया है। इसी बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने पीएम मोदी समेत भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला है। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा शासित केंद्र सरकार का पेट्रोल-डीजल के दामों  पर अंकुश नहीं है, जनता परेशान है।अगर आप से कुछ नहीं हो रहा है तो इस्तीफा दें और घर बैठे।

पीएम से लेकर सीएम सब मौन
कमलनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक सब महंगाई और पेट्रोल-डीजल के मसले पर मौन धारण किए हुए हैं। एमपी पीसीसी अध्यक्ष ने कहा कि साढ़े चार साल पहले मौजूदा यूपीए की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में पेट्रोल 55 रुपये प्रति लीटर था तब ये खूब चिल्लाते थे और कहते थे कि पेट्रोल बहुत महंगा हो गया है। अब पेट्रोल के दाम 86 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं, फिर भी ये सब मौन हैं।

भाजपा ने किया था साइकिल पर प्रदर्शन
यूपीए शासन के दौरान जब पेट्रोल के दामों मे बढ़ोतरी हुई थी तब एमपी के सीएम शिवराज सिंह समेत भाजपाइयों ने साइकिल से मंत्रालय जाकर विरोध जताया था। इस घटना का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी नेताओं की साइकिलें गायब हो चुकी हैं, धीरे-धीरे ये खुद भी गायब हो जाएंगे।

आप इस्तीफा दो, घर बैठो
ईंधन की बढ़ रही कीमतों पर भाजपा द्वारा कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराने वाली बात पर कमलनाथ ने कहा कि बारिश नहीं हो तो भाजपा, कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराती है। बाढ़ आए तो कांग्रेस जिम्मेदार, अरे हर चीज़ की जिम्मेदार कांग्रेस तो फिर आपकी (भाजपा सरकार) क्या जिम्मेदारी? इससे अच्छा होगा कि आप इस्तीफा दो और घर बैठो।

भारत बंद आज
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस समेत 21 दलों का भारत बंद शुरू हो चुका है। कांग्रेस की ओर से आज देशभर में बंद का आह्वान किया गया है। जिसका असर सुबह से देखने को मिल रहा है। ओडिशा में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरकर नारेबाजी की है। तो आंध्रप्रदेश में CPI (M) के कार्यकर्ताओं ने ट्रेन रोककर सरकार का विरोध जताया है। डीएमके, एनसीपी, आरजेडी, सपा और एमएनएस समेत देश की करीब 21 छोटी-बड़ी पार्टियों ने बंद का समर्थन किया है। कई व्यापारी संगठनों ने भी कांग्रेस के इस बंद को अपना समर्थन दिया है।